पुरी, जेएनएन। महाप्रभु श्री जगन्नाथ का दर्शन करने आए एक श्रद्धालु के साथ सेवायतों द्वारा अभद्र व्यवहार करने के साथ मारपीट करते हुए सोने की चेन एवं लॉकेट छीन लेने का मामला सामने आया है। गंभीर रूप से घायल महाराष्ट्र के थाणे जिला अंतर्गत काल्पेट रोड निवासी चेतन गणपति अमलकर को पुलिस ने सदर अस्पताल, पुरी में भर्ती कराया है जहां उसका इलाज चल रहा है। इस संबंध में दोनों पक्ष की ओर से सिंहद्वार थाना में मामला दर्ज कराया गया है। पुलिस घटना की जांच कर रही है। घटना रविवार सुबह की है।

भुक्तभोगी श्रद्धालु चेतन की ओर से थाना में दी गई तहरीर में बताया गया है कि श्रीमंदिर में महाप्रभु का दर्शन करने के दौरान सेवायत चढ़ावे के लिए अधिक पैसे मांग रहे थे। इससे इंकार करने पर सेवायतों ने पहले उसे गाली दी, विरोध करने पर श्रीमंदिर के अंदर ही उसे पीटने लगे। साथ ही उसके गले से सोने की चेन एवं लॉकेट को भी छीन लेने का आरोप चेतन ने लगाया है। बताया है कि इस घटना की सूचना मिलने पर पहुंची श्रीमंदिर पुलिस ने उसे सेवायतों से बचाकर अस्पताल में भर्ती कराया।

वहीं दूसरी ओर से श्रीमंदिर के सेवायतों ने भी मामला दर्ज कराया है। सेवायतों की ओर से पुलिस को बताया गया है कि उक्त भक्त श्रीमंदिर में दर्शन के लिए सुबह पहुंचा था। दर्शन के दौरान उसने महाप्रभु के पीतल घड़ा को धक्का दे दिया, जो-जो गिरते-गिरते बच गया। इसे लेकर भक्त को समझाने के दौरान कहासुनी हुई। सेवायतों ने मारपीट करने के आरोप को निराधार बताते हुए चेन और लॉकेट के बारे में भी अनभिज्ञता जाहिर की है।

इधर, इस घटना की महाप्रभु के भक्तों ने निंदा की है। कहा कि एक तरफ राज्य सरकार पुरी में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए तरह-तरह की योजना बना रही है तो वहीं दूसरी तरफ दूर-दराज से आने वाले भक्तों को श्रीमंदिर में सेवायतों को चढ़ावा न देने पर अपमानित होना पड़ता है। यदि ऐसे ही चलता रहा तो इसका पर्यटन पर बुरा असर पड़ेगा। सेवायतों की इस हरकत की निंदा करते हुए बुद्धिजीवियों ने कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।