पुरी : बंगाल की खाड़ी में देवी नदी के मुहाने पर दो दिन तक एक 20 फीट लंबी घायल तीमी मछली ने तड़पते हुए दम तोड़ दिया। जबकि वन विभाग द्वारा इसे बचाने के लिए कोई प्रयास नहींकिया गया। मछुआरों द्वारा अस्तरंग वन विभाग के अधिकारियों को इस संबन्ध में सूचना दी गई। देवी मुहान के बालीपठा में एक विशाल तीमी मछली घायल अवस्था में तड़प रही है। इसकी लम्बाई 20 फुट, गोलाई 6 फीट एंवं वजन 30 क्वींटल से ज्यादा होने का अनुमान लगाया था। तीमी मछली के पूंछ में चोट लगने से दो दिन तक वह तड़पती रही। पास के ही आवासाही व तरासाही गांव के मछुआरों ने इसे देख वन विभाग के कर्मचारियों को जानकारी दे दी थी। लेकिन कोई कार्रवाई न किए जाने के कारण इसकी मौत हो गई। इस बारे में पूछे जाने पर अस्तरंग वन विभाग के रेंजर गोपाल पटनायक का कहना है कि समुद्री ज्वार आने के कारण मृत तीमी पानी में पुन: बह गई है। कहीं दूसरी जगह समुद्र द्वारा तीमी के शव को पुन: वापस फेंक देने की सम्भावना है। इसके बाद ही जो कुछ कार्रवाई की जाएगी। वन विभाग के अधिकारियों के बातों से यह स्पष्ट हो चुका है कि जानकारी मिलने के बावजूद कोई भी तीमी के सामने जाकर अपना जान जोखिम में डालना नहीं चाह रहा था। इसी कारण तीमी के पूंछ से लगातार खून बहता रहा एवं अन्त में उसकी मौत हो गई।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर