जागरण संवाददाता, पुरी :

सफलता के शीर्ष पर पहुंचने की दौड़ में शामिल होकर आज का युवा अपना बहुमूल्य समय खर्च करता है। इस अंधी दौड़ में युवा अपनी परंपरा और संस्कृति को त्याग कर गुरुजन तथा बुजुर्गो के प्रति सेवा-भाव भूलते जा रहे हैं। छात्र-छात्राओं में गुरुजनों और बड़ों के प्रति संवेदनशील मनोभाव जगाने के उद्देश्य में राज्यस्तरीय सामाजिक-सांस्कृतिक संस्था सुधा की तरफ से ग्रैंड पैरेंट्स- 60 कार्यक्रम आयोजित किया गया।

यूथ हॉस्टल में आयोजित इस कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि सामंत चंद्रशेखर महाविद्यालय के अध्यक्ष तथा पूर्व उपाध्यक्ष श्री जगन्नाथ संस्कृत विश्वविद्यालय के गवेषणा केंद्र के निदेशक डॉ. हरिहर मिश्र सम्मानित अतिथि के रूप में उपस्थित थे। अन्य अतिथियों में तिरिक्त समाज के मंगिल अधिकारी, माधव चन्द्र बराल और शिक्षाविद प्रो. डॉ.अद्वैत चरण धल भी उपस्थित थे। सुधा के अध्यक्ष संजय कुमार मिश्र ने अध्यक्षता के साथ संचालन भी किया। इस दौरान पुरी के विभिन्न विद्यालयों के छात्र-छात्राओं के बीच बड़ों के प्रति कर्तव्य बोध, श्रद्धा, सेवा, स्नेह व सम्मान के मनोभाव जागृत करने वाली कई प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। समारोह में मुख्य अतिथि डॉ. मिश्र ने कहा कि गुरुजनों की जीवन शैली व अनुभव को कार्यक्षेत्र में प्रयोग कर युवा पीढ़ी खुद को अच्छे मानव के रूप में तैयार कर सकता है। सम्मानित अतिथि प्रो. डॉ. धल ने सुधा के कार्यक्रम की सराहना करते हुए इससे छात्रों को नई दिशा मिलने की बात कही। कार्यक्रम में शिक्षाविद तथा सुलेखक शिव सुंदर मिश्र, डॉ. महादेव मिश्र, डॉ.चारुबाला दास, हटकिशोर मलिक, शिवसुंदर सर्वाणी दास और ममता दास ने भी विचार व्यक्त किए। बाद में अतिथियों ने विभिन्न सांस्कृतिक प्रतियोगिताओं के प्रतियोगियों को पुरस्कृत भी किया।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर