पुरी, जागरण संवाददाता : पुरी में एचपी रसोई गैस का व्यापक हेराफेरी व कालाबाजारी जोरों पर है। खुद डीलर ही इस हेराफेरी में शामिल हैं। हेराफेरी की घटना की जानकारी मिलने पर आपूर्ति विभाग ने मामला दायर कर छानबीन शुरू किया। बड़े बड़े होटल के नाम पर डिस्टिक मजिस्ट्रेट के पास मामला दायर किया गया है। घरेलू रसोई गैस कई होटलों में वितरक के जानकारी में बेचा जाता है। घरेलू गैस के व्यवहार व्यवसायिक उपयोग करना गैरकानूनी होने के बावजूद होटलों में कामर्शियल गैस सिलेंडर के बजाय घरेलू गैस सिलेंडर व्यवहार किया जा रहा है। व्यवसायिक सिलेंडर की कीमत ज्यादा होने से होटल मालिक वितरक के साथ मिलकर घरेलू गैस का प्रयोग कर रहे हैं। दूसरी तरफ घरेलू रसोई गैस की कमी हो रही है। विभिन्न समय में वितरक के गोदाम के सामने सैकड़ों उपभोक्ता हो हल्ला व मारपीट करने की घटना पुलिस के सामने आई है। कुम्हारपड़ा थाना पुलिस ने बार बार गोदाम बंद कर इस समस्या में सुधार लाने का प्रयास करते हुए विफल हुई है। गैस वितरकों द्वारा नियोजित कर्मचारियों ने छोटे छोटे परिवार को लोभ दिखाकर गैस सिलेंडर खरीद कर लेते हैं। वितरक द्वारा गैस कालाबाजारी होने से उपभोक्ताओं को उचित समय में गैस नहीं मिल पा रहा है। इस बारे में जिलाधीश के पास शिकायत पहुंचने पर जिलाधीश के निर्देश पर गुरुवार को आपूर्ति विभाग, फूड इंस्पेक्टर और मापतोल विभाग के संयुक्त प्रयास से तीन होटलों से 16 एचपी सिलेंडर को जब्त किया गया है। समुद्र के किनारे मौजूद प्रमुख होटल विक्टोरिया क्लब होटल से 12 डोमेस्टिक गैस सिलेंडर जब्त किया गया है। विभिन्न आध्यात्मिक सभा समिति, उत्सव अनुष्ठान सम्पन्न होने वाले चक्रतीर्थ रोड स्थित पुरषोत्तम वाटिका से दो सिलेंडर और होटल महावीर सेराटन से 2 सिलेंडर जब्त किया गया है। सहकारी आपूर्ति अधिकारी तुषारकान्त देव, प्रशान्त कुमार गंतायत, आपूर्ति निरीक्षक अजय मलिक, जानकी बल्लभ हावड़ा सिंह, मापतोल विभाग के इंस्पेक्टर पुलिस की मदद से छापेमारी में थे। मजिस्ट्रेट संजय मिश्र उपस्थित थे। गैस कालाबाजारी के खिलाफ सरकार से अभियान चलाने के लिए बुद्धिजीवियों ने मांग की है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर