पुरी, जागरण संवाददाता

जगत गुरु आदि शंकराचार्य के 2520वां जयंती समारोह एक सप्ताह तक चलेगा। इसका उद्घाटन गुरुवार शाम को 108 ब्राह्मंाणों द्वारा कलश यात्रा निकालकर तीर्थराज महोदधि के जल को गोब‌र्द्धन पीठ गद्दी तक लाया गया। पहली बार अष्टधातु से निर्मित आदि शंकराचार्य के प्रतिमा को प्रतिष्ठा करने के लिए अधिवास कर्म शुरू किया गया है। शंकराचार्य का महाभिषेक कर वेश भोग एवं आरती किया गया था। इसके बाद आदि शंकराचार्य के प्रतिमा को एक सुसज्जिात विमान में रखकर शहर में परिक्रमा किया गया।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर