संसू, भुवनेश्वर : विश्व प्रसिद्ध पुरी जिला स्थित कोणार्क मंदिर में कलाकारी पूर्ण पत्थरों के स्थान पर सादे पत्थर लगाए जाने के मामले को गंभीरता से लेते हुए राज्य सरकार ने एक प्रशासनिक जांच टीम को भेजा है। राज्य संस्कृति विभाग के सचिव मनोरंजन पाणिग्राही ने कोणार्क का दौरा कर स्थिति का जायजा लिया। उनके साथ राज्य पुरातात्विक विभाग की अध्यक्ष संघमित्रा सतपथी, अश्विनी कुमार सतपथी, राज्य साहित्य अकादमी के सचिव शुचिस्मिता मंत्री प्रमुख ने मंदिर का मुआयना किया। सचिव मनोरंजन पाणिग्राही ने बताया कि मंदिर के कई स्थान पर सादे पत्थर लगे होने की बात सही पायी गई है लेकिन यह पत्थर कब से लगे हैं इसके बारे में सरकार के पास कोई दस्तावेज नहीं है। सचिव ने कहा कि कोणार्क मंदिर की देखभाल का काम एएसआइ कर रही है। एएसआइ के अनुसार नेशनल कंजर्वेशन पालिसी के अनुरुप मंदिर के रखरखाव का काम किया गया है इसमें किसी तरह की कोई लापरवाही नहीं बरती गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

जागरण अब टेलीग्राम पर उपलब्ध

Jagran.com को अब टेलीग्राम पर फॉलो करें और देश-दुनिया की घटनाएं real time में जानें।