जागरण संवाददाता, पुरी : श्रीमंदिर के अंदर बीएसएफ जवान एवं श्रीमंदिर पुलिस के बीच जबरन घुसकर दर्शन करने से रोकने पर झड़प हो गई। इस घटना में सब इंस्पेक्टर और पांच मंदिर पुलिसकर्मी घायल हो गए।

महाप्रभु की संध्या आरती नीति खत्म होने के बाद 20 से 25 बीएसएफ जवान अपने अधिकारियों के साथ बेहरण द्वार देकर जबरन महाप्रभु के दर्शन के लिए जाने लगे। उन्हें श्रीमंदिर पुलिस ने रोका तो वे बकझक के साथ मारपीट करने लगे। इसके बाद श्रीमंदिर पुलिस ने सिंहद्वार थाना में मामला दर्ज करा दिया। पुलिस ने छह जवानों को थाने ले जाकर पूछताछ की।

सूत्रों के अनुसार महाप्रभु की संध्या आरती नीति खत्म होने के बाद पारिमाणिक टिकट पर दर्शन शुरू हुआ था। इसके बाद जवान दर्शन के लिए मंदिर में घुसे थे। अलग नीति होने के कारण जवानों को अंदर नहीं जाने दिया गया। जवान जबरन मंदिर में घुस कर और महाप्रभु के सामने खड़े हो गए। उस समय मंदिर पुलिस ने उन्हे बाहर जाने को कहा। इस बात को लेकर मंदिर पुलिस और जवानों में हाथापाई हुई। बाद में सिंहद्वार थाना पुलिस घटना पर पहुंची और जवानों को थाना ले आई। श्रीमंदिर पुलिस जवानों पर कार्रवाई की मांग कर रही है और जवान अपने ऊपर दु‌र्व्यवहार होने की बात कह रहे है। दोनों तरफ के अभियोग पर पुलिस पूछताछ कर रही है।

------------

सटिक सूचना देने की कोई भी व्यवस्था नही

श्रीमंदिर में महाप्रभु के दर्शन के समय दर्शनार्थियों को सटिक सूचना देने की कोई भी व्यवस्था न होने के कारण इस तरह की घटना आए दिन होती है। विभिन्न समय में दर्शनार्थी श्रीमंदिर के पंडा और जगन्नाथ मंदिर के पुलिस के बीच हाथापाई हो रही है। दर्शनार्थियों की शिकायत प्रशासन के पास हर दिन होती है, मगर किसी प्रकार की कार्रवाई न होने से हर दिन घटना होती है।