जागरण संवाददाता, पुरी

बेलाभूमि में समुद्र के किनारे फोटोग्राफ लेने को लेकर फोटोग्राफरों के दो संघों के बीच विवाद बढ़ गया है। बीते 10 दिसंबर को गोल्डेन बीच फोटोग्राफर एसोसिएशन की तरफ से शिकायत की गई थी कि पुरी सी-बीच फोटोग्राफर संघ के सदस्य विभिन्न फोटोग्राफरों से चंदा मांग रहे हैं। इसको लेकर पुरी सी-बीच महासंघ की तरफ से एसपी और जिलाधीश को ज्ञापन देकर बताया गया कि गोल्डेन सी-बीच फोटोग्राफर संघ का आरोप आधारहीन है।

इससे पूर्व महासंघ की तरफ से रैली निकाली गई। सैकड़ों छायाकार जिलाधीश कार्यालय पहुंचे और गोल्डेन सी-बीच फोटोग्राफर संघ के विरोध में प्रदर्शन किया। महासंघ के अध्यक्ष रंजन कुमार दास, उपाध्यक्ष ए. लड्डू राव, संपादक प्रफुल्ल कुमार रथ, सह-संपादक अंजन गांगुली और संयुक्त संपादक गजेन्द्र सेनापति ने रैली और प्रतिवाद सभा का नेतृत्व किया। जिलाधीश कार्यालय के सामने आयोजित सभा में गोल्डेन बीच फोटोग्राफर एसोसिएशन की आलोचना करते हुए महासंघ के सदस्यों ने कहा कि महासंघ को बदनाम करने का षडयंत्र किया जा रहा है। महासंघ व्यवस्थित संगठन और समाजसेवा में शामिल है। जिला प्रशासन तथा पर्यटन विभाग के विभिन्न कार्यक्रमों में महासंघ शामिल रहता है। लेकिन कुछ असामाजिक लोग बेलाभूमि में पर्यटकों का शोषण करते हैं। जबकि इसका इल्जाम महासंघ पर लगाया जा रहा है। पुलिस ऐसे फोटोग्राफरों पर कार्रवाई करे।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर