पुरी, प्रेट्र। भारी सतर्कता और कड़ी सुरक्षा के बीच बुधवार को भगवान जगन्नाथ बड़े भाई बलभद्र और बहन सुभद्रा के साथ रथ पर सवार होकर नौ दिन के लिए मौसी के घर पहुंच गए। हर्षोल्लास के बीच हुए सालाना महोत्सव में शामिल होने के लिए लाखों की संख्या में श्रद्धालु ओड़िशा की इस पवित्र नगरी में पहुंचे। करीब दो किलोमीटर लंबे मार्ग में कई महत्वपूर्ण लोगों के साथ बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं तीन रथों पर सवार भगवान और उनके भाई-बहन के दर्शन किए।

बोधगया में हुए आतंकी हमले के बाद बढ़ी सुरक्षा व्यवस्था में रथयात्रा महोत्सव के लिए सात हजार से ज्यादा सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई थी। लोगों से भी अपील की गई थी कि किसी भी संदिग्ध वस्तु या व्यक्ति को देखकर वे पुलिस को तत्काल सूचित करें। पूरे इलाके में आतंक निरोधी दस्ते के जवानों और अचूक निशानेबाजों की नियुक्ति की गई थी। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार रत्नजड़ित सिंहासनों पर बैठे भगवान और उनके भाई-बहन को 12 वीं सदी में निर्मित जगन्नाथ मंदिर के भीतर से लाया गया और लाल, काले, हरे व पीले कपड़े से सजे रथों पर विराजमान किया गया।

45 फुट ऊंचे भगवान जगन्नाथ के लकड़ी के बने रथ में 16 पहिये हैं और इसका नाम नंदीघोष रखा गया है। भाई बलभद्र के तालाध्वजा रथ की ऊंचाई 44 फुट है और उसमें 14 पहिये हैं। जबकि बहन सुभद्रा का 43 फुट ऊंचा दरपादलन रथ था और उसमें 12 पहिये लगे हुए हैं। आ‌र्द्रता बढ़ने के कारण समुद्र के किनारे बसी इस धर्मनगरी में रथयात्रा से पूर्व काफी गर्मी थी लेकिन उसके बाद हुई बारिश ने लोगों को राहत दी। गर्मी और बारिश के बावजूद रथ पर सवार भगवान के दर्शन का श्रद्धालुओं का उत्साह तनिक भी कम नहीं हुआ।

ममता ने भी खींचा भगवान का रथ

पश्चिम बंगाल सरकार पुरी में एक एकड़ जमीन लेकर उस पर पर्यटक आवास का निर्माण करेगी जिसमें रथयात्रा के मौके पर जाने वाले बंगाली श्रद्धालु ठहर सकेंगे। यह घोषणा बुधवार को कोलकाता में प्रदेश की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रथयात्रा के उद्घाटन के मौके पर की। मुख्यमंत्री ने कहा कि रथयात्रा के मौके पर महोत्सव में शामिल होने के लिए प्रदेश के लोग बड़ी संख्या में पुरी जाते हैं, यह निर्णय उनकी सुविधा के मद्देनजर लिया गया है। इस्कॉन द्वारा कोलकाता के पार्क सर्कस इलाके में आयोजित रथयात्रा में मुख्यमंत्री ने भी अन्य श्रद्धालुओं के साथ भगवान जगन्नाथ के रथ को खींचा।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर