संसू, झारसुगुड़ा : झारसुगुड़ा ब्लाक के पडरीपत्थर गांव में भूषण स्टील कारखाना की जली हुई राख डालने को लेकर गत पांच छह दिनों से चला आ रहा ग्रामीणों का विरोध बढ़ता जा रहा है। इसे लेकर शुक्रवार को ग्रामीणों ने गांव का रास्ता अवरोध करने के साथ संग्राम समिति के सदस्य झारसुगुड़ा जिला आंचलिक प्रदूषण कार्यालय का घेराव किया। घेराव कर रहे समिति के लोगों का कहना है कि गांव में भूषण कारखाना ने 11 एकड़ जमीन पर राख फेकने के लिए ली थी मगर उक्त जगह के अलावा अन्य कई एकड़ में कारखाना से राख का परिवहन करने वाली निजी ठेका कंपनी कल्याणी द्वारा राख फेंकी जा रही है। पूरा गांव का परिवेश बुरी तरह प्रदूषित हो गई है। जली राख के कारण अंचल में खेती किसानी का काम पूरी तरह से बर्बाद हो गया। गांव के पानी उत्सर्ग के साथ तालाब कुंआ भी जली राख से प्रभावित हो गया। व्यापक पैमाने में राख जहां तहां फेंके जाने से पूरा गांव प्रदूषित हो गया और यहां रहना मुश्किल हो रहा है। बारबार मना करने व शिकायत के बाद भी ना तो जिला प्रशासन और ना ही प्रदूषण बोर्ड ही इस दिशा में ध्यान दे रहा।

:::::::::

जिलाधीश द्वारा दिए गए निर्देश पर हमने अपनी जांच पूरी कर रिपोर्ट तैयार कर ली है। रिपोर्ट को जिलाधीश को सौंपी जाएगी। उसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

- निरंजन मल्लिक, आंचलिक प्रदूषण बोर्ड

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस