संसू, ब्रजराजनगर : सामाजिक एवं सांस्कृतिक संस्था गंगाधर मेहेर सांस्कृतिक अनुष्ठान की ओर से रविवार को एमसीएल ओरिएंट क्षेत्र के क्लब परिसर में उत्कल दिवस मनाया। अनुष्ठान के अध्यक्ष शुभशंकर मासंत की अध्यक्षता में आयोजित इस समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शिक्षाविद प्रशांत कुमार पाटजोशी समेत बतौर मुख्यवक्ता अध्यापक उमेश चंद्र पात्र एवं सेवानिवृत उप पुलिस अधीक्षक तथा कवि मायाधर तांडी ने बतौर सम्मानित अतिथि शामिल हुए। इस अवसर पर वक्ताओं ने किस प्रकार प्रदेश के महापुरुषों के प्रयासों से भाषाई आधार पर उत्कल प्रदेश का गठन हुआ। इस बाबत विस्तार से जानकारी दी गई। ओडि़या भाषा एवं प्रदेश की संस्कृति को बचाने के लिए सभी के सहयोग की आवश्यकता बताते हुए भाषा को समृद्ध बनाने एवं इसके निरंतर प्रयोग करने की ओर सभी के प्रयास की आवश्यकता बतायी गई। मुख्य अतिथि पाटजोशी ने कहा कि हमारी भाषा सांस्कृति एवं परंपरा को बचाए रखने के लिए बाहरी इलाकों से आकर यहां रहनेवालों को भी इस बाबत प्रोत्साहित करना चाहिए ताकि वे भी हमारे सांस्कृतिक आयोजनों में शामिल हो सके। इससे पूर्व कार्यक्रम का शुभारंभ प्रदेश के वर पुत्र गंगाधर मेहेर, मधुसूदन दास तथा फकीर मोहन सेनापति के चित्र पर माल्यार्पण एवं ओपीएम बालिका उच्च विद्यालय की छात्राओं द्वारा बंदे उत्कल जननी गीत के साथ हुआ। इस कार्यक्रम में संगठन के उपाध्यक्ष खिरोद कुंअर, महासचिव सुशील त्रिपाठी, अनिल कुमार दास प्रमुख शामिल रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस