संसू, झारसुगड़ा : झारसुगुड़ा वीर सुरेंद्र साय विमानतल के तीन वर्ष पूरे होने पर विमानतल प्रबंधन ने केक काट कर वर्षगांठ मनाया। इस अवसर पर अपने माता-पिता के साथ दिल्ली जा रही तीन वर्षीय बालिका से केक कटवाया गया। मौके पर झारसुगड़ा जिला के पुलिस अधीक्षक विकास चंद्र दास, विमानतल के एपीडी पवन कुमार ज्यूस्ती समेत विमानतल के कर्मचारी व विमान यात्री उपस्थित थे। एसपी ने कहा कि झारसुगुड़ा विमानतल पश्चिम ओडिशा का गेटवे है। एपीडी ने कहा कि विमानतल के लिए राज्य सरकार ने जमीन देने का आश्वासन दिया है। विमानतल के लिए चार एप्रोन के लिए टेंडर प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। जल्द ही चालू करने का आदेश दिया जाएगा। दिसंबर तक यहां से इंडिगो का विमान सेवा भी शुरू होने की संभावना है।

आज से ठीक तीन वर्ष पूर्व देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारसुगुड़ा विमानतल का उद्घाटन किया था। उन्होंने कहा था कि चप्पल पहनने वाले भी विमान से यात्रा कर सकेंगे। दो वर्ष कोरोना से मुकाबला करने के बाद भी झारसुगुड़ा का सुरेंद्र साय विमानतल मजबूती के साथ खड़ा है। उड़ान योजना के तहत इस विमानतल से भुवनेश्वर, दिल्ली, कोलकाता व हैदराबाद के लिए उड़ान शुरू किया गया था। लोक सभा में बेसमारिक विमान चलाचल मंत्री ज्योतिरादित्य सिधिया ने भी झारसुगुड़ा विमानतल की सफलता पर अपने विचार रखे थे। विदित हो कि इस विमानतल का निर्माण अंग्रेजों ने द्वितीय विश्व युद्ध से पूर्व कराया था। झारसुगुड़ा जिले से मिले पांच कोरोना संक्रमित : पिछले 24 घंटे में झारसुगुड़ा जिले के विभिन्न क्षेत्रों से कुल पांच कोरोना संक्रमितों की पहचान की गई है। जिला प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार, इस अवधि में झारसुगुड़ा नगरपालिका क्षेत्र से तीन व ब्रजराजनगर नगरपालिका क्षेत्र से एक और किरमिरा प्रखंड से एक कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इस अवधि में जिले की बेलपहाड़ नगरपालिका तथा झारसुगुड़ा, लखनपुर, लइकेरा व कोलाबीरा प्रखंड से एक भी संक्रमित नहीं मिले हैं। इस अवधि में जिले के बाहरी अस्पतालो में हुई कोरोना जांच में भी कोई संक्रमित नहीं मिला है।

Edited By: Jagran