संसू, बामड़ा : दुकान खोलने को लेकर लिया गया उधार न लौटाने पर नाबालिग कालेज छात्र को उसी कालेज के पूर्व प्रिसिपल ने कालेज के छात्रों के समक्ष उसकी पिटाई कर दी थी। इस घटना के बाद अपमानित छात्र ने जहर खाकर खुदकुशी करने का प्रयास किया था। थाना में मामला पहुंचने के बाद आरोपित पूर्व प्रिंसिपल फरार है। सूचना के अनुसार, कुचिंडा थाना क्षेत्र के भोजपुर स्थित बीआरजी कालेज में भोजपुर गांव का सूजन बारिक पढ़ने जाता था। पिता की मृत्यु के बाद गांव में पान दुकान खोल कर अपने परिवार का भरण-पोषण भी करता था। पान दुकान खोलने के लिए सूजन ने कालेज के पूर्व प्रिसिपल प्रशांत नायक से दस हजार रुपये उधार लिए थे। उधार रुपये को महीने की किस्त में वापस कर रहा था। किसी कारण वश इस माह का किस्त भुगतान नहीं कर पाया था। पूर्व प्रिसिपल किस्त की राशि नहीं मिलने पर कालेज पहुंच गए और सूजन के क्लास में सभी छात्र-छात्राओं की उपस्थिति में सूजन की पिटाई कर दी थी। इसके बाद पूर्व प्रिसिपल नायक सूजन के घर पहुंचे और उसकी मां से रुपये मांगे थे। सूजन ने अपमानित होने के बाद जहर खा लिया था। आनन-फानन में उसे कुचिंडा हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां सूजन के स्वास्थ्य में सुधार बताया जा रहा है। नाबालिग छात्र की मां झरणा बारिक की शिकायत के बाद कुचिंडा पुलिस मामला दर्ज कर घटना की जांच में जुट गई है। थाना अधिकारी शुभांकर सेठ ने बताया कि आरोपित पूर्व प्रिंसिपल फरार है। उसे दबोचने का प्रयास किया जा रहा है।

Edited By: Jagran