संसू, ब्रजराजनगर : इन दिनों प्रदेश में राशन कार्ड तथा विभिन्न सामाजिक योजनाओं के लाभुकों का बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक जोड़ने की प्रक्रिया जारी है। लेकिन समाज मे कुछ ऐसे लोग भी हैं जो चलने-फिरने से लेकर उठने-बैठने तक में असमर्थ है और हमेशा खाट पर पड़े रहना उनकी नियति बन चुकी है। परिवार वालों की तमाम कोशिशों के बावजूद ऐसे लोगों का आधार कार्ड नहीं बन सका है। क्योंकि आधार कार्ड के लिए आवश्यक बायोमेट्रिक चिन्ह प्रदान करने में ये असमर्थ है। ऐसी स्थिति में इन लोगों का सरकारी राशन बंद कर दिया गया है। प्रभावितों में लखनपुर ब्लॉक के कंडेइकेला गांव के उमाकांत बेहरा की शत प्रतिशत दिव्यांग पुत्री मीतू बेहरा, नव प्रधान की पुत्री नुआदेई प्रधान एवं मुकुंद बेहेरा के 25 वर्षीय पुत्र भीष्म बेहरा शामिल है। ये सभी दिव्यांग गरीब परिवारों से हैं और सरकारी सहायता पर ही निर्भर है। इनके अलावा भी इलाके में कई ऐसे लोग हैं जिनका राशन बंद किया गया है। इन दिव्यांग के परिवार वालों को अब भत्ता भी बंद होने का डर सता रहा है। लोगों ने इस समस्या से निजात दिलाने के लिए प्रशासन से नियम में कुछ बदलाव अथवा कोई वैकल्पिक व्यवस्था करने की मांग की है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस