संसू, झारसुगुड़ा : झारसुगुड़ा सदर ब्लाक अंतर्गत श्रीपुरा स्थित देसी शराब भट्ठी का काफी दिनों से विरोध होता आ रहा है। इस विरोध का कमान श्रीपुरा गांव की श्रीपुर पंचायत महिला समिति व दुर्गती नाशनी चैरिटेबल ट्रस्ट ने उठा रखा है। अपनी मांगों को लेकर एक बार फिर दोनों संगठन की सदस्यों ने झारसुगुड़ा जिलाधीश से मिलकर श्रीपुरा स्थित देसी शराब भट्ठी को पूर्ण रूप से बंद करने की मांग की है। विदित हो कि हाल ही में जिला आबकारी विभाग द्वारा विज्ञप्ति जारी कर कहा गया था कि वित्तीय वर्ष 2022-2023 में देसी शराब भट्ठी की मंजूरी के लिए किसी को आपत्ति हो तो वे अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं। इसी को लेकर महिलाओं ने लिखित रूप से अपनी आपत्ति दर्ज की है। उन्होंने जिलाधीश से मिल कर मांग किया है कि किसी भी शर्त पर संबंधित शराब भट्ठी को मंजूरी प्रदान नहीं की जाए। विदित हो कि पिछले कई महीनों तक शराब भट्ठी के सामने गांव की महिलाओं ने धरना देकर शराब भट्ठी का स्थानांतरित कर चुकी है। साथ ही जिलाधीश व आबकारी विभाग से भी लगातार मांग कर रहे हैं। महिलाओं के आंदोलन के से प्रेरित होकर जिले में तीव्र प्रतिक्रिया पाने के बाद श्रीपुर शराब भट्ठी को हटाने के लिए सभी एकजुट हो चुके हैं। परंतु इस शराब भट्टंी को हटाने की जगह एक बार फिर इसकी मंजूरी के लिए आबकारी विभाग ने विज्ञप्ति प्रकाशित की है, जिसे लेकर गांव की महिलाओं में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। पेड़ पर बंधी रस्सी से झूल रहे 12 वर्षीय बच्चे की मौत : बामड़ा प्रखंड स्थित रबगा पंचायत के मझापड़ा गांव में पेड़ पर बंधी रस्सी से झूलता 12 वर्षीय बच्चा का शव गोविंदपुर थाना की पुलिस ने बरामद किया। पुलिस ने अपमृत्यु का मामला दर्ज कर शव का पोस्टमार्टम कराया। उसके बाद स्वजनों को शव सौंप दिया। जानकारी के अनुसार, पेड़ पर बंधी रस्सी से झूलने के दौरान 12 वर्षीय बच्चे के गले में रस्सी फंस जाने से उसकी मौत हो गई। नाबालिग प्रशांत लुगुन (12) स्थानीय विद्यालय में 7वीं कक्षा का छात्र था। बुधवार की दोपहर भोजनावकाश के दौरान वह घर आया था। इस क्रम में अपना बहीखाता घर में रख कर खेलने के लिए निकल गया था। शाम में प्रशांत के मित्रों ने उसके घर जाकर प्रशांत का शव पेड़ पर लटकने की जानकारी दी। प्रशांत के पिता जाब्रुस तत्काल घटनास्थल पर पहुंचे और बेटे के शव को पेड़ से उतारा। हालांकि उसकी मौत हो चुकी थी। सूचना मिलने पर गरपोष पुलिस चौकी के इंचार्ज देवराज साहू और गोविंदपुर थाना के अधिकारी मौके पर पहुंचे। उन्होंने मामले की जांच की। पुलिस ने कहा कि जांच के बाद ही मौत के कारणों की स्पष्ट जानकारी दी जा सकती है।

Edited By: Jagran