संवादसूत्र, कटक : नगर के बादामबाड़ी बस स्टैंड के पास से अगवा युवक को नाटकीय अंदाज में बादामबाड़ी थाना पुलिस ने मुक्त कराने समेत तीन आरोपितों को को भी दबोच लिया है। आरोपितों में जगत¨सहपुर बालीकुदा के प्रभुचरण ओझा, अनादि चरण परिड़ा एवं नाउगांव का कान्हू करुणाकर ओझा शामिल हैं। इनके पास से तीन मोटरसाइकिल भी जब्त की गई हैं।

मूलरूप से जाजपुर जिला निवासी मकरध्वज साहू, पत्‍‌नी ममता मंजरी साहू के साथ कटक के राजेन्द्र नगर इलाके में रहते हैं। विगत तीन जून को मकरध्वज अपने एक दोस्त के साथ बादामबाड़ी फुट ओवरब्रिज के पास बैठे थे तभी तीन मोटरसाइकिल में 6 युवक वहां पहुंचे और उन्हें अगवा कर लिया। बाद में मकरध्वज की पत्नी ममता मंजरी के पास एक अनजान नंबर से फोन कर डेढ़ लाख रुपये की फिरौती की मांग की गई। पैसा न होने से ममता मंजरी ने बादामबाड़ी थाना में इस संबंध में जानकारी दी। थाना इंचार्ज रश्मि रंजन महापात्र ने आरोपितों को दबोचने के लिए एक योजना बनाई। इसके तहत ममता मंजरी ने आरोपितों को खाते में पैसा जमा करने के बजाय कैश देने को कहा और रुपये देने के लिए भांजे के तौर पर थाना इंचार्ज महापात्र उसके साथ गए। अन्य पुलिस कर्मचारी सादे पोशाक में जगत¨सहपुर इलाके में पहुंचे। अपहर्ताओं को संदेह हो जाने से वे ममता मंजरी को इधर-उधर आने को कहा। ऐसे में थाना प्रभारी महापात्र ने उनके फोन नंबर को टै्रक करने का निर्देश देने के साथ उनकी लोकेशन पता की और उन्हें दबोच लिया।

Posted By: Jagran