संवादसूत्र, कटक : राज्य में दिन प्रतिदिन एटीएम लूट घटना पुलिस के लिए सिरदर्द बनती जा रही है। इसे लेकर शुक्रवार को पुलिस विभाग ने बैंक के अधिकारियों के साथ ओडिशा क्रिकेट एसोसिएशन, कटक परिसर में बैठक की। इस बैठक में कटक डीसीपी अखिलेश्वर ¨सह, एडीसीपी मायाधर सेठी, एसीपी असीम मिश्र सहित विभिन्न सरकारी व निजी बैंकों के करीब तीन सौ प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। बैठक में किस प्रकार से एटीएम लूट को रोका जा सकेगा, इस संदर्भ में बैंक अधिकारियों के साथ कमिश्नरेट पुलिस ने चर्चा की है। डीसीपी अखिलेश्वर ¨सह की अध्यक्षता में हुई बैठक में एटीएम का दृश्य ऑनलाइन में देखने का निर्देश दिया गया। एटीएम में कैमरा लगा है, मगर उस पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। कंट्रोल रूम के जरिए एटीएम के सीसीटीवी कैमरा एवं ऑनलाइन के जरिए नजर रखकर इस तरह की लूट को रोका जा सकता है और लुटेरों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार किया जा सकता है। नियमित एटीएम के अलार्म की जांच करना, सही सुरक्षा कर्मी तैनात करना एवं उन्हें पर्याप्त सुविधा मुहैया कराना, बैंक की छोटी शाखाओं को पैसा लेकर जाते समय पुलिस को सूचित करना, बैंक परिसर में पुलिस स्टेशन, थाना अधिकारी आदि का नंबर लिखने का भी बैंक अधिकारियों को निर्देश दिया गया है। चेक ठगी रोकने पर भी अहमियत दी गई है। अधिक मूल्य का चेक क्लीयर करने से पहले चेकदाता को विश्वास में लेना चाहिए। एटीएम सुरक्षा, रुपये ट्रांसफर को लेकर मॉकड्रिल करने से बैंक की सुरक्षा दुरुस्त होगी। अधिक मात्रा में इस तरह की घटनाओं को रोका जा सकता है।

Posted By: Jagran