जागरण संवाददाता, कटक : मातृशक्ति समाज, कटक व नगर की विभिन्न महिला समितियों के संयुक्त तत्वावधान में मातृ दिवस सह महिला सशक्तीकरण विषयक कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें बच्चों ने नाटक एवं नृत्य नाटिका के जरिये मातृशक्ति को सबसे शक्तिशाली करार दिया। इस मौके पर मातृशक्ति समाज की अध्यक्ष संपत्ति मोड़ा ने कहा कि हम सभी की प्रथम शिक्षिका मां होती है। मां जैसा संस्कार अपने बच्चों को देती है, उसी तरह की छवि हम सभी की बनती है। मां के चरणों में ही चारों धाम है।

कटक मारवाड़ी समाज के अध्यक्ष विजय खंडेलवाल ने तू ही गंगा, तू ही यमुना, तू ही चारो धाम है, भोली भाली मैया तू ही तुलसी शालीग्राम है.. के जरिये मातृशक्ति की महिमा बताई। कहा कि जिसे मां का आशीष मिल गया उसे धरती का स्वर्ग मिल गया। धरती पर मां ही जिसका कोई मोल नहीं होता है, मां के कर्ज से ना कभी कोई मुक्त हुआ है ना होगा। इस दौरान संगीता करनानी, डॉ. टोनपे, डॉ. नम्रता चड्ढा, डॉ. सुमन पंडा, उमेश खंडेलवाल, महेंद्र गुप्ता, डॉ. भावगिरी पत्री को विशेष रूप से सम्मानित किया गया। इस अवसर पर मातृ दिवस के उपलक्ष्य में स्लोगान प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। इस अवसर पर लक्ष्मण महिपाल, सूर्यकांत सांगनेरिया, दिनेश जोशी, सुनील मुरारका, दाउदयाल अग्रवाल, नथमल चेनानी, विजय संतुका, सुरेश कमानी, विश्वजीत महांती समेत कटक, भुवनेश्वर, बालेश्वर, अनुगुल, बारीपदा आदि जगहों से 700 से अधिक लोगों ने भाग लिया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप