जासं, कटक : सरकारी अस्पतालों में 'मो सरकार' योजना के सुचारु संचालन को लेकर प्रशासनिक जांच प्रक्रिया तेज कर दी गई है। इसी के तहत केंद्रांचल राजस्व आयुक्त (आरडीसी) अनिल सामल ने एससीबी मेडिकल एवं शिशु भवन का निरीक्षण किया। इस दौरान सामने आयीं खामियों खासतौर पर अस्पताल परिसर में परिमल व्यवस्था एवं मरीजों की देखभाल में लापरवाही को लेकर आरडीसी ने नाराजगी जाहिर करते हुए इसमें सुधार लाने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिया। खासतौर पर विभिन्न वार्ड एवं परिसर में कचरा जमा देखकर असंतोष जताया। वार्ड के अंदर सफाई ठीक से ना होने के कारण कचरा इधर-उधर फर्श पर दिखाई दिया। इसी तरह एससीबी मेडिकल परिसर में ज्यादातर जगहों पर आरडीसी को कचरा मिला। इससे चारों ओर बदबू फैल रही थी। आरडीसी ने एससीबी मेडिकल के अधिकारियों को व्यवस्था में सुधार लाने की कड़ी हिदायत दी। आरडीसी ने अस्पताल के मेडिसिन, नेफ्रोलॉजी, सर्जरी आदि वार्ड में जाकर वहां की स्थिति का मुआयना करने के साथ मरीजों से भी उन्हें मिल रहीं सुविधाओं के बारे में जानकारी ली।

उल्लेखनीय है कि 10 दिन पहले आरडीसी अनिल सामल 'मो सरकार' और 'फाइव टी' योजना की समीक्षा की थी। समीक्षा में लिए गए निर्णय को किस तरह से एससीबी मेडिकल एवं शिशु भवन में अमल किया गया है उसका जायजा लेने के लिए आरडीसी अनिल सामल गुरुवार को कटक में मौजूद राज्य के दोनों प्रमुख अस्पतालों का दौरा किया। इस दौरान आरडीसी की सरकारी सचिव संचिता दास, एससीबी के अध्यक्ष प्रोफेसर जयश्री महांती, अधीक्षक सीबीके महांती, प्रशासनिक अधिकारी कल्पतरु दास प्रमुख मौजूद थे। इसी तरह शिशु भवन में अधीक्षक प्रोफेसर डॉ. सरोज सतपथी व अन्य डॉक्टर मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप