संवाद सूत्र, कटक : ओडिशा पुलिस ने रविवार को अपना 83वां स्थापना दिवस मनाया। कटक बक्सी बाजार में मौजूद रिजर्व पुलिस मैदान में आयोजित स्थापना दिवस समारोह में मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने पुलिसकर्मियों को स्थापना दिवस की शुभकामना दी और अमन शांति के लिए शहीद हुए पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि दी।

इस मौके पर उन्होंने कहा कि पुलिस जनता की मित्र होती है। ऐसे में अपने मनोबल को बढ़ाने के लिए कार्य करे। समाज के गरीब लोगों को कैसे न्याय मिलेगा, उसके लिए काम करना होगा, जिससे लोगों का विश्वास पुलिस पर और बढ़ सके। महिलाओं पर होने वाले अपराध को रोकने के लिए पुलिस को कड़ी कदम उठाने की जरूरत है। एसपी आफिस में मौजूद महिला सेल थानों में मौजूद महिला एवं शिशु डेस्क को अधिक कार्यशील बनाने की जरूरत है। तमाम थानों के इंस्पेक्टर उन डेस्क को अधिक कार्यशील बनाने के लिए ध्यान देना होगा। आíथक अपराध एवं साईवर अपराध ओडिशा पुलिस के लिए बड़ी चुनौती है। इससे निपटने के लिए कटक, भुवनेश्वर, राउरकेला, बरहमपुर एवं संबलपुर में साइबर पुलिस स्टेशन खोला गया है। आगामी दिनों में और अधिक जिलों में साईवर पुलिस स्टेशन खोले जाएंगे। पुलिस फोर्स के आधुनिकीकरण एवं कौशल विकास पर राज्य सरकार अहमियत दे रही है। पुलिस कर्मचारियों के कल्याण के साथ उनके मनोबल बढ़ाने के लिए कई कदम सरकार उठा रही है।

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर कुल 15 पुलिस अधिकारी व कर्मचारी को उल्लेखनीय कार्य के चलते पुरस्कृत किया। पुरस्कार पाने वाले अधिकारी व कर्मचारियों को शुभकामना देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि ओडिशा पुलिस देश की आदर्श पुलिस बनाने के लिए तमाम पुलिस अधिकारी व कर्मचारी निष्ठा के साथ काम करेंगे। इस मौके पर पुलिस डीजी डॉ. राजेंद्र प्रसाद शर्मा ने कहा कि पुलिस कर्मचारी कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पूरे मन से काम कर रहे हैं। 83 साल पहले ओडिशा पुलिस चंद पुलिसकर्मियों को लेकर शुरू हुई थी, जो कि आज 67 हजार तक पहुंची है। उनमें कार्यकुशला व तकनीकी ज्ञान बढ़ाने के लिए सरकार काफी सहयोग दे रही है। चुनौती से निपटने के लिए पुलिस ठोस कदम उठा रही है। इस मौके पर पुलिस विभाग के कई आला अधिकारी मौजूद थे।

Posted By: Jagran