जासं, कटक : राजधानी भुवनेश्वर के लक्ष्मीसागर थाना क्षेत्र में सिख युवक परविदर सिंह की पुलिस के सामने हुई पिटाई का मामला तूल पकड़ रहा है। इस घटना में कमिश्नरेट पुलिस पर आरोपितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की बजाय सुरक्षा देने का आरोप ओडिशा युवा स्वाभिमान मंच ने लगाया है। इसके विरोध में मंच की ओर से आवाहक देवाशीष घोष के नेतृत्व में मंगलवार को डीजीपी कार्यालय के सामने प्रदर्शन करने के साथ एक ज्ञापन सौंपा। क्राइमब्रांच के एडीजी सौमेंद्र प्रियदर्शी को सौंपे गए ज्ञापन में बताया गया है कि विगत 14 जनवरी को लक्ष्मीसागर थाना इलाके में परविदर सिंह पर जिस तरह से असमाजिक तत्वों द्वारा हमला किया गया वह दुखद है। आरोपितों के खिलाफ पुलिस सख्त दफा लगाने की बजाय मामूली दफा लगाने से सभी आरोपित तुरंत जमानत पर छूट गए। इस घटना में राजनेता और एक वरिष्ठ पुलिस अफसर की भूमिका को लेकर भी मंच ने सवाल खड़ा करते हुए दोषियों के खिलाफ सही जांच कर सख्त कार्रवाई करने की मांग की गई है। ऐसा नहीं करने पर इस मुद्दे को लेकर आगे आंदोलन को और तेज करने की चेतावनी मंच ने दी है। इस प्रदर्शन में मंच के अध्यक्ष शारदा प्रसाद षाड़ंगी, महासचिव सार्थक राय, चिटू सिंह प्रमुख शामिल थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस