संसू, कटक : पुलिस-वकील विवाद मामले ने अब एक नया मोड़ ले लिया है। मंगलवार को पुलिस-वकील विवाद मामले को लेकर दायर दो आवेदन की सुनवाई कर हाईकोर्ट ने क्राइमब्रांच को जांच के निर्देश दिया हैं। गौरतलब है कि पिछले 29 अगस्त से इस विवाद के चलते वकीलों के अंदोलन पर जाने से हाईकोर्ट समेत कटक व राज्य के तमाम अदालतों में कामकाज मानो ठप हो गया है। वकीलों के कार्य बंद आंदोलन करने से विचार कार्य बाधित हुआ है। पुलिस-वकील विवाद को लेकर हाईकोर्ट बार एसोसिएशन एवं नेसनलिस्ट लायर फोरम ने हाईकोर्ट में दो अलग-अलग मामला दायर किया था। विदित हो कि 28 अगस्त को वकील देवी प्रसन्न पटनायक अपनी गाड़ी से घर लौट रहे थे तभी चाउलियागंज थाना अंतर्गत नुआबाजार के पास उनकी गाड़ी एक स्कूल छात्रा से टक्कर हो गई। उस समय छात्रा के पिता की वकील के साथ कहासुनी होने लगी। इस बीच पीसीआर वैन की टीम मौके पर पहुंची एवं वकील देवी प्रसन्न पटनायक को वहां से चले जाने को कहा, मगर वह नहीं सुने। इसके बाद पुलिस ने उनकी पिटाई कर दी थी। यह आरोप वकील देवी प्रसन्न पटनायक की तरफ से लगाया गया था। इसके बाद से पुलिस की पिटाई का विरोध में वकील आंदोलनरत है।

Posted By: Jagran