कटक, जागरण संवाददाता। कोरोना काल में एक डकैती योजना को अंजाम देने की फिराक में रहने वाले एक डकैत गिरोह के चार सदस्यों को चाउलियागंज थाना पुलिस ने दबोचा है। राष्ट्रीय राजमार्ग पर तेल टैंकर लूटने का ब्लू प्रिंट तैयार करते समय गिरोह के चार सदस्य पुलिस के हत्थे चढ़े हैं। इनके पास से पुलिस ने एक देशी बंदूक, 3 गोली, एक धारदार हथियार, एक लोहे की छड़ी, एक टॉर्च, 4 मोबाइल फोन और 2 बाइक भी जब्‍त किया है। 

गिरफ्तार होने वाले आरोपियों में चाउलियागंज मठसाही का सोमनाथ साहू, दीपू उर्फ जितेन्द्र साहू, माहंगा भद्रेश्वर का बापूना और रामचंद्र नंद, केंद्रपाड़ा सदर थाना इलाके का रश्मि रंजन स्वांई शामिल है। इन चारों से पूछताछ करने के पश्चात मामला दर्ज करते हुए चाउलियागंज थाना पुलिस ने इन्हें कोर्ट चालान करते हुए जेल भेज दिया है। इन अपराधियों के नाम से पहले से ही ढेर सारे मामला विभिन्न थानों में दर्ज है। 

 पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, यह अपराधी गिरोह चाउलियागंज गांधी चौक के पास मौजूद मैदान में बैठकर डकैती योजना के लिए तैयार हो रहे थे। तभी इसके बारे में चाउलियागंज थाना पुलिस सूत्र से खबर लगी। गुप्त सूचना के आधार पर अधिकारी तापस प्रधान के नेतृत्व में एक टीम मौके पर पहुंची और गिरोह पर धावा बोल दिया। इस गिरोह के अन्य दो आरोपी मोटरसाइकिल से भागने में सफल हुए जबकि चार को पुलिस ने रंगे हाथ दबोच लिया। पूछताछ के दौरान टैंकर लूट के बारे में योजना बनाए जाने की बात का खुलासा इन आरोपियों ने किया है। इससे पहले भी यह गिरोह कई बार तेल टैंकर लूट कर जंगल के अंदर ले जाकर टैंकर से तेल खाली करने के बाद छोड़ दिया था। यह जानकारी पुलिस पूछताछ में सामने आयी है। 

 चाउलियागंज का कुख्यात अपराधी अखना के साथ मिलकर काम कर रहे थे। यहां तक कि यह सभी गैंगस्टर टिटो के साथ भी काम कर रहे थे। यह दोनों कुख्यात अपराधी इन दिनों जेल में होने हेतु यह सभी आरोपी मिलकर अपराधिक वारदातों को अंजाम दे रहे थे। गिरफ्तार होने वाले आरोपियों में से दीपू के नाम से सबसे ज्यादा अपराधिक मामला दर्ज है। उसके नाम से हत्या, हत्या का प्रयास, बम से हमला, गैर कानूनी तौर पर बंदूक रखना, व्यापारी और ठेकेदारों को रंगदारी की मांग करना आदि के कुल 13 मामले विभिन्न थानों में दर्ज है। इसके अलावा सोम के नाम से 6 मामला, रश्मि रंजन के नाम से 3 मामला और बापूना के नाम से भी कई मामले विभिन्न थानों में दर्ज है। केंद्रपाड़ा का रश्मि रंजन गैंगस्टर टीटो के लिए काम करता था। मौके पर से फरार होने वाले इस गिरोह के अन्य दो सदस्यों की तलाश में पुलिस जुट गई है।

ओडिशा में अंतरराज्यीय गांजा चालान रैकेट का पर्दाफाश, 5.55 क्विंटल गांजा जब्‍त; 5 गिरफ्तार

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस