संसू, कटक : संबलुपर स्थित हीराकुद जलभंडार से छोड़े जा रहे पानी के चलते महानदी के निचले इलाकों में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो गई है। नदी के तटीय जिलों में एक कटक भी बाढ़ से प्रभावित हुआ है। जिले के आठगड़ समेत बांकी ब्लॉक के कई गांव महानदी की बाढ़ में जलमग्न हो गए हैं। आलम यह है कि उत्तर बांकी ब्लॉक के सुवर्णपुर-रातागड़ मार्ग पर मौजूद हुलहुला ब्रिज के ऊपर 4 फीट बाढ़ का पानी बह रहा है। इससे रतागड़, गोपालपुर, लोचनपुर एवं बंदाल गांव का संपर्क बाहरी दुनिया से कट गया है। इसी तरह तिगिरिया ब्लॉक के खंडहता, गदाधरपुर, बाऊंसपुट जैसे अनेक गांव पानी के घेरे में आ गए हैं। बाढ़ का पानी खेतों में भर जाने से फसलें डूब गई है। इससे किसानों को भारी नुकसान होने का अनुमान किया जा रहा है। जिला प्रशासन की ओर से राहत एवं बचाव कार्य चल रहा है। उल्लेखनीय है कि हीराकुद बांध के ऊपरी हिस्से में लगातार हो रही बारिश को देखते हुए जलभंडार के 25 गेट खोलने का निर्णय लिया गया था। जलभंडार अधिकारियों ने बीते सोमवार की रात पहले पांच गेट खोलकर पानी महानदी में छोड़ा। इसके बाद मंगलवार को बांध के 20 और गेट खोल दिए गए, जिससे करीब 30 लाख क्यूसेक पानी महानदी में जा रहा है। इससे नदी में उफान आ गया है और तटीय इलाकों पर बाढ़ का खतरा बढ़ गया है।

Posted By: Jagran