कटक, जेएनएन। पूरे विश्व में इन दिनों कोराेना वायरस को लेकर आतंक फैला हुआ है। ऐसे में कंधमाल  का एक युवक कोराेना वायरस से पीड़ित होने का अनुमान लगाया जा रहा है। इस संदिग्ध युवक को कटक के एससीबी मेडिकल की विशेष कोराना वार्ड में भर्ती किया गया है। यहां पर उसका इलाज किया जा रहा है। एससीबी मेडिकल के आपातकालीन अधिकारी डा. भुवनानंद महारणा ने शनिवार को मीडिया को जानकारी दी है कि संदिग्ध मरीज मृत्युंजय मुनि के खून के नमूने को जांच के लिए पुणे में मौजूद एक टेस्ट लेबोरेटरी में भेजा जाएगा। वहां से रिपोर्ट आने के पश्चात उसी हिसाब से आगे का इलाज किया जाएगा। प्राथमिक तौर पर इसे संदिग्ध मरीज के तौर पर यहां रखकर विशेष डाक्टरी टीम द्वारा इलाज किया जा रहा है। 

 फुलवाणी के चिकित्सालय में शुक्रवार को मृत्युंजय मुनि (22) को इलाज के लिए विशेष केबिन में भर्ती किया गया था। मृत्युंजय चीन के सिचुआन में मौजूद साउथ वेस्ट मेडिकल यूनिवर्सिटी में चौथा वर्ष का एमबीबीएस छात्र हैं। वह पिछले जनवरी 11 तारीख को फुलवाणी शहर अपने घर लौटा था। यहां कुछ दिनों तक उसे सर्दी खांसी हुई। दवाई खाने के बावजूद उसकी स्वास्थ्य अवस्था में सुधार ना होने हेतु फुलवाणी के जिला मुख्य चिकित्सालय में परीक्षण के लिए भर्ती किया गया था। लिखित तौर पर मेडिकल को इस बारे में अवगत कराने के पश्चात उसका स्वास्थ्य परीक्षण किया गया था और उसे विशेष वार्ड में रखा गया था।

फुलवाणी के जिला मुख्य चिकित्सालय में कोराना वायरस के इलाज के लिए कुछ भी व्यवस्था ना होने हेतु उसे शुक्रवार को ही एंबुलेंस के द्वारा कटक के एससीबी मेडिकल को भेज दिया गया। एससीबी में अब विशेष टीम द्वारा मृत्युंजय का इलाज किया जा रही है।  पल्मोनरी मेडिसिन, मेडिसिन और अनाएस्थेशिया विभाग के डाक्टर शामिल है। गौरतलब है कि एससीबी में कोराना वायरस मरीजों के इलाज के लिए विशेष वार्ड खोला गया है। संदिग्ध मरीजों के लिए 40 बेड और पीड़ित मरीजों के लिए 8 आईसीयू बेड मौजूद रखा गया है।

Magh Saptami 2020: माघ सप्तमी पर लाखों श्रद्धालुओं ने लगायी डुबकी, प्रशासन ने किया खास इंतजाम

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस