कटक, जागरण संवाददाता। आगामी 10 सितंबर को प्रभु गजानंद की पूजा है। ऐसे में कोरोना को ध्यान में रखते हुए कटक नगर निगम की ओर से गणेश पूजा के चलते गाइडलाइन जारी की गयी है। गणेश पूजा आयोजन करने वाले पंडाल यहां अनुष्ठान को गणेश पूजा करने के लिए स्थानीय थाने से इजाजत लेना अनिवार्य किया गया है।

रोशनी और सजावट पर पाबंदी

इसके अलावा पूजा में किसी भी तरह की रोशनी और सजावट पर पाबंदी लगायी गयी है। शिक्षा अनुष्ठान में पूजा आयोजन करने के लिए पुजारी को मिलाकर सर्वाधिक 20 लोग मौजूद रह सकेंगे। ठीक इसी तरह पूजा पंडालों में पुजारी, कार्यकर्ता को मिलाकर कुल 7 लोगों को रहने के लिए इजाजत दी गई है। गणेश मूर्ति की ऊंचाई 4 फीट से अधिक नहीं होनी चाहिए और पूजा पंडाल के सामने कपड़ा ढककर पूजा करने के निर्देश दिए गए हैं।

भीड़ न करने के लिए सख्त निर्देश

आम लोगों को पूजा पंडाल के पास भीड़ न करने के लिए सख्त निर्देश दिए गए हैं। श्रद्धालुओं के दर्शन पर भी पाबंदी लगायी गयी है। पूजा में किसी भी तरह की सांस्कृतिक कार्यक्रम, भोज, विसर्जन शोभायात्रा आदि निकालने पर भी पाबंदी लगायी गयी है। कटक नगर निगम की ओर से तैयार किए जाने वाले अस्थाई जलाशय में ही तमाम गणेश मूर्तियों का विसर्जन किया जाएगा । पूजा के शुरू होने से लेकर अंतिम पर्व विसर्जन तक कोविड गाइडलाइन को कड़े तौर पर पालन करने के लिए निर्देश जारी किया गया है। जो अनुष्ठान या पूजा पंडाल इस गाइडलाइन की अनदेखी करते पाये गए उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के लिए भी निगम की ओर से चेतावनी दी गई है।

Edited By: Babita Kashyap

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट