संवाद सूत्र, कटक : माध्यमिक शिक्षा परिषद (बोर्ड) की मैट्रिक परीक्षा में इस साल एक बार फिर प्रदेश की बेटियों ने अपना परचम लहराया है। इस साल मैट्रिक परीक्षा में 76.23 परीक्षार्थी सफल हुए। सोमवार को परीक्षा परिणाम बोर्ड के मुख्य कार्यालय से घोषित किया गया। इस अवसर पर परीक्षा परिणाम पुस्तिका का विमोचन विद्यालय एवं जनशिक्षा मंत्री बद्री नारायण पात्र ने किया। उनके साथ शिक्षा सचिव प्रदीप्त महापात्र, माध्यमिक शिक्षा परिषद अध्यक्ष डा. जाहान आरा बेगम व परीक्षा नियंत्रक निहार रंजन महांती उपस्थित थे।

इस साल कुल 5 लाख 76 हजार 398 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी थी। जिसमें चार लाख 38 हजार 348 पास हुए हैं। इनमें छात्राओं की संख्या अधिक है। कुल दो लाख 22 हजार 43 छात्राएं पास हुई, जबकि दो लाख 16 हजार 305 छात्र पास हुए। ए वन ग्रेड में 1715, ए-2 ग्रेड में 15689, बी-1 ग्रेड में 39252, बी-2 ग्रेड में 68009, सी ग्रेड में 98947, डी ग्रेड में 127243, ई ग्रेड में 87279 पास हुए हैं।

बालेश्वर जिले में सर्वाधिक 88.15 फीसद परीक्षार्थी पास हुए, जबकि मलकानगिरी में सबसे कम 59.32 फीसद पास हुए हैं। 36 स्कूल में परीक्षा परिणाम शून्य हुआ है, जबकि पिछले साल यह आंकड़ा 22 स्कूल था। इस साल कुल 429 स्कूल में शतप्रतिशत परीक्षार्थी पास हुए हैं, जबकि पिछले 748 स्कूल में ऐसा हुआ था। पिछले साल मैट्रिक का परीक्षा परिणाम पास दर 85.28 फीसद था जबकि इस साल यह 9.05 फीसद कम है।

-----------

जनशिक्षा मंत्री व सचिव ने नतीजे पर जताया संतोष :

इसके बावजूद जनशिक्षा मंत्री बद्री नारायण पात्र एवं सचिव प्रदीप्त महापात्र ने नतीजे पर लेकर संतोष प्रकट किया और कहा कि सही समय पर नतीजा घोषित किया गया। इस साल उठाए गए कुछ ठोस कदम की वजह से परीक्षा परिणाम कम हुआ है। पहले जहां छात्र-छात्राएं अपने ही स्कूल में परीक्षा देते थे और परीक्षा के दौरान स्कूल के शिक्षक उन्हें पास करने में मदद करते थे, मगर इस साल बदलाव लाया गया है और सेंटर दूसरे स्कूलों में रखा गया। नकल को रोकने के लिए पांच स्तरीय स्क्वाड का भी गठन किया गया था। सचिव श्री महापात्र के मुताबिक जिन स्कूलों में परिणाम शून्य आया है उन स्कूलों में अधिक ध्यान दिया जाएगा। उन स्कूलों के शिक्षकों को जवाबदेही बनाने के लिए भी कदम उठाया जाएगा। ठीक उसी तरह अव्वल नंबर से पास होने वाले होनहार छात्रों को राज्य सरकार की तरफ से सम्मानित व पुरस्कृत किया जाएगा। इसके लिए 30 करोड़ की लागत रखी गई है। इसके अलावा होनहार शिक्षक व अभिभावकों को सम्मानित व पुरस्कृत किया जाएगा। इस मौके पर मध्यमा एवं स्टे ओपन स्कूल का नतीजा भी घोषित किया गया। बोर्ड की दोनों वेबसाइट में परीक्षा परिणाम घोषित किए जाने के तुरंत बाद परीक्षा परिणाम छोड़ दिया गया।

---------

22 जून से होगी सप्लीमेंटरी परीक्षा :

इस साल मैट्रिक परीक्षा में फेल होने वाले छात्र-छात्राएं आगामी 22 जून से मैट्रिक सप्लीमेंटरी परीक्षा दे सकेंगे। परीक्षा को देने के लिए 25 मई से 31 मई तक फार्म भरना होगा। बोर्ड की तरफ से मैट्रिक परीक्षा परिणाम को लेकर किसी भी तरह के आरोप हो तो छात्र कंट्रोल रूम में सीधा फोन कर बता सकते हैं। सोमवार दो बजे से तमाम परीक्षार्थियों का ओएमआर सीट बोर्ड की वेबसाइट में उपलब्ध किया गया है। सात दिन के अंदर ओएमआरसीट की नकल छात्र डाउलोड कर सकने की जानकारी बोर्ड की अध्यक्ष डा. जाहान आरा बेगम ने दी है।

Posted By: Jagran