जेएनएन, कटक/भुवनेश्वर : पुरी जिला के काकटपुर थाना क्षेत्र की बुजुर्ग महिला के साथ थानेदार द्वारा बदसलूकी मामले को लेकर भाजपा महिला मोर्चा की सदस्यों ने पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) डॉ. राजेंद्र प्रसाद शर्मा से मिलकर आरोपित की बर्खास्तगी की मांग की है। गुरुवार शाम को राज्य भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्ष प्रभाती परिड़ा के नेतृत्व में सदस्यों ने डीजीपी कार्यालय को अपना मांगपत्र सौंपा। भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्ष प्रभाती परिड़ा ने बताया कि पुरी के नीमापड़ा थाना अधिकारी शिकायत करने पहुंची महिला की समस्या समाधान करने के बजाय उनसे बदसलूकी कर बैठे। महिला की पिटाई तक की। घटना के पश्चात उन्हें पुलिस हेडक्वार्टर तबादला किया गया है। इस तरह की बदसलूकी करने वाले पुलिस अधिकारी के खिलाफ की गई कार्रवाई पर्याप्त नहीं है। थाना अधिकारी के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने की मांग भाजपा महिला मोर्चा ने की है।

एसपी ने थानेदार को लाइन हाजिर किया

थाने में विधवा बुजुर्ग एवं उसकी बहू को आधी रात को डंडे से पीटने मामले में पुरी जिला के नीमापड़ा थाना के आइआइसी (इंचार्ज) मृत्युंजय स्वांई को एसपी सार्थक षाड़ंगी ने लाइन हाजिर करते हुए मुख्यालय से जोड़ दिया है। सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के अवमानना करने एवं आधी रात को दो महिला की निर्मम पिटाई घटना को एसपी ने गंभीरता से लिया है। अतिरिक्त एसपी धीरेन कुमार नंद एवं नीमापड़ा उपखंड के पुलिस अधिकारी द्वारा घटना की जांच के बाद दी गई रिपोर्ट के आधार पर थानेदार स्वांई के खिलाफ एसपी ने यह कार्रवाई की है। एसपी की इस कार्रवाई का भुक्तभोगी 75 वर्षीय विधवा बासंती पलती एवं उनकी बहू रीता ने स्वागत किया है।

Posted By: Jagran