कटक, जागरण संवाददाता। चाउलियागंज थाना पुलिस ने जगतसिंहपुर और तटवर्ती जिलों में चोरी से असला कारोबार करने वाले चार कुख्यात अपराधियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार होने वाले चारों आरोपी की पहचान जगतसिंहपुर वालीजंग गांव का जानकी बल्लभ महाराणा, जगतसिंहपुर सिंहपुर गांव का बापी उर्फ अंबिका प्रसाद स्वाइं, जगतसिंहपुर कादुअपड़ा गांव का राका और राकेश कुमार मलिक और बालीकुदा ईश्वरपुर गांव का लिकुना उर्फ चंदन मोहंती के रूप में हुई है। इन आरोपियों के पास से पुलिस ने 5 बंदूक, 28 राउंड गोली, एक एसयूवी कार, 4 मोबाइल फोन भी बरामद हुए हैं। 

यह गिरोह कटक, भुवनेश्वर, पुरी, जगतसिंहपुर आदि जिलों में बंदूक का कारोबार चला रहा था। यह बात पुलिस छानबीन में जान पाई है। कंदरपुर निमेइसापुर गांव का गैंगस्टर प्रशांत दास और तपु का सहयोगी है। जानकी जो कि इस असला कारोबार का सरगना जाना जाता है। वह पुलिस का मोस्ट वांटेड था। जब वह चौद्वार जेल में था तभी एक गैंगस्टर ने जानकी को पांच बंदूक मुहैया किया था और उसे बेचने के लिए जानकी ग्राहक की तलाश में था। 

भुवनेश्वर के कुछ रेत माफियाओं को यह बंदूक बेचने के लिए जगतसिंहपुर से यह चारों भुवनेश्वर जा रहे थे कि, तभी इसके बारे में चाउलियागंज थाना पुलिस को खबर लगी। जैसे ही वह बंदूक लाकर कटक बिरीबाटी पहुंचा तभी चाउलियागंज थाना के अधिकारी अधिकारी तापस प्रदान की अगुवाई में सब इंस्पेक्टर मनेश्वर प्रधान, विश्वजीत सामंतराय, नीलू नायक प्रमुख उन्हें काबू किया।

जानकी वर्ष 2016 में गिरफ्तार होकर अदालत में हाजिर होने के लिए गया था तभी वह पुलिस की आंखों में धूल झोंक कर वहां से फरार हो गया। तब से जगतसिंहपुर थाना पुलिस उसकी खोज में था। जानकी के नाम पर जगतसिंहपुर, तिर्टाल आदि इलाके में टेंडर फिक्सिंग, हथियार कारोबार, हत्या का प्रयास, रंगदारी आदि के 12 से अधिक संगीन मामला दर्ज है। इसके अलावा अन्य तीनों के नाम पर भी एकाधिक मामला दर्ज होने की बात पुलिस छानबीन में जान पाई है। यह जानकारी कटक डीसीपी प्रतीक सिंह ने दी है।

Edited By: Babita Kashyap