कटक, जागरण संवाददाता। ओडिशा हाइकोर्ट में मामलों की सुनवाई का सीधा प्रसारण यानी लाइव स्ट्रीमिंग ऑफ कोर्ट प्रोसीडिंग्स शुरू हुई है। हाइकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश की खंडपीठ में सोमवार को परीक्षण के तौर पर यह व्यवस्था शुरू की गई है। हालांकि ओडिशा हाईकोर्ट बार एसोसिएशन ने हाइकोर्ट ऑफ़ ओडिशा लाइव स्ट्रीमिंग ऑफ कोर्ट प्रोसीडिंग्स रूल्स 2021 को तुरंत वापस लाने के लिए मांग की है । सीधा प्रसारण मुद्दे को लेकर अब एक तरह से आमने-सामने की स्थिति पैदा हो गई है।

हाइकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस एस.मुरलीधर सीधा प्रसारण व्यवस्था का शुभारंभ किया। साथ ही साथ हाईकोर्ट का मोबाइल ऐप, जिला जज कोर्ट और दूसरे सबोर्डिनेट कोर्ट में ऑनलाइन में जुर्माना जमा करने की सुविधा, कटक-भुवनेश्वर कमिश्नरेट पुलिस इलाके में ट्रैफिक ई-चालान मामलों की वर्चुअल अदालत में सुनवाई व्यवस्था का भी उद्घाटन किया। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग व्यवस्था में आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेकर मुख्य न्यायाधीश जस्टिस एस. मुरलीधर व्यवस्था में तकनीकी ज्ञान का इस्तेमाल और इसकी फायदे के बारे में रोशनी डाली। हाईकोर्ट के नए मोबाइल ऐप, ऑनलाइन में जुर्माना जमा अवस्था, वर्चुअल कोर्ट व्यवस्था की सुविधा के ऊपर हाइकोर्ट इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी एंड आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कमेटी के अध्यक्ष जस्टिस विश्वजीत मोहंती और कंप्यूटर कम स्टीयरिंग कमेटी के पूर्व अध्यक्ष जस्टिस शत्रुघन पुजारी ने रोशनी डाली ।

इस मौके पर एडवोकेट जनरल अशोक कुमार परिजा, पुलिस डीजी अभय, पुलिस कमिश्नर सौमेंद्र प्रियदर्शी, परिवहन कमिश्नर, एनआईसी के राज्य इंफॉर्मेशन ऑफिसर प्रमुख मौजूद थे।

Edited By: Babita Kashyap