संसू, भुवनेश्वर : पुरी के श्रीमंदिर का नाट्य मंडप असुरक्षित हालात में होने की बात विशेषज्ञों ने कही है। सोमवार को भारतीय पुरातत्व विभाग (एएसआइ) के आठ सदस्यीय दल ने नाट्य मंडप का निरीक्षण किया है। कोर कमेटी के अध्यक्ष प्रो. आनंद प्राण गुप्ता की अध्यक्षता में जांच को गए कमेटी के सदस्यों ने पाया कि भिन्न-भिन्न समय में निíमत जगमोहन, नाट्य मंदिर और भोग मंडप के संयोग स्थल में दरार है। इसके अलावा सैकड़ों साल पहले लगाई गई बीम को भी बदले जाने की आवश्यकता है। चूने का पलस्तर हटाकर टूटे हुए पत्थरों की मरम्मत की भी जरूरत बताई गई है। एएसआइ, भुवनेश्वर परिमंडल के अधीक्षक अरुण मलिक, ने बताया कि विशेषज्ञों की रिपोर्ट के आधार पर मरम्मत के लिए कदम उठाए जाएंगे। अत्याधुनिक ज्ञान कौशल के सहारे नाट्य मंडप का मरम्मत काम हाथ में लिया जाएगा। बता दें कि विशेषज्ञों का यह दल 3 दिन तक श्रीमंदिर का जायजा लेगा और आवश्यक कदम उठाने के लिए सुझाव देगा।

Posted By: Jagran