भुवनेश्वर, जेएनएन। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने का सिलसिला जारी है। शुक्रवार को भुवनेश्वर में उत्कल अनुज हिन्दी वाचनालय एवं मिलाप चंद्र बेताला मेमोरियल ट्रस्ट की ओर से दिवंगत वाजपेयी जी को भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई। उत्कल अनुज हिंदी वाचनालय में आयोजित शोकसभा में बतौर मुख्य वक्ता प्रकाश बेताला ने पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी को अजातशत्रु के साथ-साथ सर्वमान्य नेता बताते हुए उनके साथ बिताए पलों को याद किया।

इसके बाद कवियों ने स्वरचित कविता के माध्यम से भारत रत्न अटल जी के छात्र जीवन संघर्ष से लेकर पत्रकार, कवि एवं राजनीतिक जीवन में आए उतार-चढ़ाव पर विस्तार से रोशनी डाली। शोकसभा में किशन खंडेलवाल, अशोक पांडे, नारायण मतवाल, सजन लढ़ानिया, निधि गर्ग, रामकिशोर शर्मा, बसंत शर्मा, लक्ष्मण पंडा आदि शामिल रहे। इसी तरह मिलाप चन्द बेताला मेमोरियल ट्रस्ट की ओर से भी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी गई। प्रकाश चंद्र बेताला ने कहा कि भारत मां के महान व सच्चे सपूत अजातशत्रु अटल बिहारी वाजपेयी का देहावसान जीवन का एक अटल सत्य है। उन्होंने कहा कि राष्ट्र धर्म के प्रथम संपादक अटल बिहारी वाजपेयी के साथ बेताला परिवार का नाम उनके साथ जुड़ा। बेताला ने बताया कि हमारे पिता मिलाप चन्द बेताला की स्मृति में बने 'मिलाप चन्द बेताला मेमोरियल ट्रस्ट' के द्वारा राष्ट्र धर्म के वाíषक कार्यक्रम वचनेस त्रिपाठी स्मृति व्याख्यान माला का हर साल आयोजन किया जाता है। इस अवसर पर वीरेन्द्र बेताला, सुब्रत महापात्र, सौमित्री नायक, पवन बेताला, प्रफुल्ल सामंतराय, विनोद त्रिपाठी, राजेश मुदुली, गौतम, सुधाकर, विभूति साहू आदि ने पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी के चित्र पर पुष्प अíपत कर उनकी आत्मा की सद्गति के लिए प्रार्थना की।

छात्र-छात्राओं ने निकाला कैंडल मार्च

कटक में भी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी गई। यहां मधुसूदन लॉ कॉलेज के छात्र-छात्राओंने पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी की आत्मा की सद्गति की कामना करते हुए कैंडल मार्च निकाला। कॉलेज गेट से निकला यह कैंडल मार्च तारिणी मंदिर पहुंचा। यहां पर आयोजित सभा में छात्रों ने वाजपेयी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उनके बताए मार्ग पर चलने का संकल्प लिया। इस मार्च में स्मृति सुंदर बेहरा, दिलीप धीर सामंत, रश्मिता कर, उपासना महांती, वासुदेव सेठी, मानस पृष्टि, स्वागत बेहरा, शुभ्रांशु परिड़ा, जुलियास बेहरा समेत बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं शामिल रहे।