भुवनेश्वर, जेएनएन। मात्र एक हजार रुपये एवं तीन साड़ी में एक नवजात पुत्र के बेच देने की घटना सामने आई है। हालांकि इसका पता चलते ही जिला शिशु सुरक्षा यूनिट ने तुरंत हस्तक्षेप करते हुए शिशु को उद्धार कर लिया है। उक्त शिशु का फिलहाल जिला मुख्य अस्पताल में इलाज चल रहा है।

जानकारी के मुताबिक, केंदुझर जिला के बंशपाल ब्लॉक क्षेत्र की एक महिला अपने पति की मृत्यु के बाद मायके में रह रही थी। सोमवार को उसने एक पुत्र को जन्म दिया। जच्चा-बच्चा का स्वास्थ्य ठीक नहीं होने से दोनों को चाइल्ड लाइन की तरफ से इलाज के लिए जिला मुख्य अस्पताल में मंगलवार को भर्ती किया गया था। बुधवार सुबह के समय उक्त महिला के पास उसका पुत्र नहीं था। इस संबंध में छानबीन करने से पता चला कि शिशु पुत्र को बदनामी के भय से महिला ने किसी को बेच दिया है।

शिशु के बदले महिला ने 1 हजार रुपये एवं 3 साड़ी ली है। यह बात सामने आने के बाद शुक्रवार सुबह जिला शिशु सुरक्षा यूनिट की तरफ से छानबीन शुरू करते हुए पुराना बाजार के धनु नायक के पास उक्त शिशु को उद्धार कर लिया गया है। इस शिशु को उसकी मां को हस्तांतरित करते हुए शिशु को इलाज के लिए जिला मुख्य अस्पताल में भर्ती किया गया है। इस संबंध में शिशु पुत्र को लेने वाले धनु नायक ने कहा है कि मैं नि:संतान हूं। ऐसे में एक नर्स ने मुझे खबर दी और मैं अस्पताल जाकर शिशु को ले आया।  

इस संबंध में आज ही हमें सूचना मिली और छानबीन कर हमें पता चला कि उक्त शिशु को पुराना बाजार के धनु नायक को बेचा गया है। इसके बाद शिशु को उद्धार कर जिला मुख्य अस्पताल में भर्ती किया गया।

देवांगना बारिक, जिला शिशु सुरक्षा अधिकारी।