भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता। महानदी के तेज बहाव में एक हाथी फंस गई है। शुक्रवार सुबह आठगड़ के पास महानदी में यह दृश्य देखने को मिला है। सुबह से ही खबर लिखे जाने तक महानदी में वन विभाग, दमकल विभाग एवं पुलिस विभाग संयुक्त आपरेशन गजराज जारी है मगर कड़ी मशक्कत के बावजूद गजराज को बाहर नहीं निकाला जा सका है। पानी के तेज बहाव के बीच मुंडली बैरेज के पास गजराज फंसे हुए हैं।

गजराज को महानदी से बाहर निकालने के लिए वन विभाग के 25 कर्मचारी, आठगड़ पुलिस की एक प्लाटुन, दमकल विभाग के 22 कर्मचारी लगे हुए हैं। पानी के बहाव एवं लोगों की ब्रीज के ऊपर जमी भीड़ के चलते हाथी को बाहर निकालने में समस्या हो रही है। हालांकि इस बीच पानी में फंसे अन्य दो हाथी निकलकर समीप के जंगल में चले गए हैं। महानदी में फंसे गजराज को बाहर निकालने के विशेषज्ञ टीम भी पहुंची है।

 सूचना के मुताबिक 17 से 20 की संख्या में हाथियों का झुंड भोर के समय आठगड़ की तरफ महानदी में घुसे थे। यह झुंड बांकी होते हुए चंदका जंगल की तरफ जाने की खबर है। हालांकि महानदी में पानी का बहाव तेज होने कारण हाथियों के इस झुंड में से एक हाथी इसमें फंस गया। यह हाथी मुण्डली ब्रीज के पास फंसा हुआ है जबकि अन्य 7 हाथी किसी तरह से आठगड़ रेंज नुआशासन गांव की तरफ पहुंच गए हैं। इनमें से दो हाथी नदी पार करने के प्रयास में फंस जाने की बात स्थानीय लोगों ने कही है।

मुंडली ब्रीज के पास फंसी हाथी को बाहर निकालने के लिए दमकल विभाग एवं वन विभाग के कर्मचारी प्रयास कर रहे हैं। मौके पर आठगड़ रेंजर के साथ वरिष्ठ अधिकारी पहुंच गए हैं। नदी में पानी का बहाव तेज होने से हाथी को सुरक्षित निकालना चुनौतीपूर्ण कार्य हो गया है। आठगड़ रेंजर ने कहा है कि तेज बहाव के कारण हाथी को सुरक्षित बाहर निकालने में दिक्कत आ रही है। हमारी टीम इस कार्य में लगी हुई है, जल्द ही हम इसमें सफल हो जाएंगे।

वहीं दूसरी तरफ बैरेज के दुसरी तरफ भी कुछ हाथियों के होने की सूचना मिली है। ऐसे में इनके बचाव के लिए भी राहत कार्य जल्द ही शुरू किए जाने की सूचना मिली है। यहां उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ दिनों से प्रदेश में लगातार बारिश हो रही है। ऐसे में नदियों का जल स्तर तो बढ़ा ही है जंगलों में भी जल जमाव की स्थिति देखी जा रही है। ऐसे में शायद सुरक्षित स्थान की तलाश हाथियों का झुंड नदी के बहाव में आ जाने का अनुमान लगाया जा रहा है। फिलहाल महानदी में फंसे हाथियों को सुरक्षित निकालकर जंगल में भेजने का प्रयास जारी

 

Edited By: Babita Kashyap