जागरण संवाददाता, भुवनेश्वर :

ओडिशा विधानसभा मानसून सत्र के तीसरे दिन शिक्षक समस्या एवं चारा घोटाले को लेकर सदन में जोरदार हंगामा हुआ। कांग्रेस एवं भाजपा दोनों ही विरोधी पार्टियों ने इस मुद्दे पर सरकार घेरने का प्रयास किया। कांग्रेस ने जहां शिक्षक समस्या को उठाकर सरकार को बैकफुट पर लाने का प्रयास किया, वहीं भारतीय जनता पार्टी ने चारा घोटाले को अपना हथियार बनाया। भाजपा विधायकों ने आरोप लगाया कि राज्य में 100 करोड़ रुपये का चारा घोटाला हुआ है। सरकार इस घोटाले की जांच सीबीआइ से कराए, सच्चाई सामने आ जाएगी। वहीं कांग्रेस ने शिक्षक समस्या को हथियार बनाकर सरकार को घेरते कहा कि जिस राज्य में शिक्षक धरने पर हो उस प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था कैसी होगी आसानी से समझी जा सकती है। ऐसे में सरकार शिक्षक समस्या को सरकार को गंभीरता से लेनी चाहिए। वहीं इन दोनों मुद्दों पर सरकार बैकफुट पर दिखी। विरोधी दलों के हंगामा को देखते हुए विधानसभा अध्यक्ष प्रदीप अमात सदन की कार्यवाही 11:30 बजे तक मुलतवी घोषित कर दी।

Posted By: Jagran