भुवनेश्वर, जेएनएन।Successful test of Vanshi missile भारत एवं पाकिस्तान के बीच चल रही रसाकस्सी के बीच आज एक बार फिर भारत ने कम दूरी तक मार करने वाली वंशी मिसाइल का सफल परीक्षण किया है। हवा से हवा में मार करने वाली वंशी मिसाइल से अस्त्र मिसाइल को टारगेट किया गया था, जिसमें वैज्ञानिकों को सफलता मिली है। 

जानकारी के मुताबिक कलेईकुण्डा एयरवेश में सुखोई 30 एमकेआई लड़ाकू विमान से बुधवार सुबह 10 बजकर 1 मिनट पर पहले अस्त्र को छोड़ा गया था। इसके कुछ समय बाद उसे टारगेट कर चांदीपुर के आईटीआर के तीन नंबर लांच पैड से कम दूरी वाले क्षेपणास्त्र (मिसाइल) वंशी को छोड़ा गया। हवा में ही वंशी ने अस्त्र को मार गिराने में सफलता हासिल किया है।

यहां उल्लेखनीय है कि पिछले 16 तारीख को कलेईकुण्डा एयरवेश से सुखोई 30 एमकेआई लड़ाकू विमान से अस्त्र का व्यवहारिक परीक्षण किया गया था, जो कि पूरी तरह से सफल रहा। 3.8 मीटर लम्बी एवं 178 सेंटीमीटर मोटा यह क्षेपणास्त्र अपने साथ 154 किलोग्राम युद्धास्त्र ले जाने में सक्षम है। यह तरल इंधन से संचालित होता है। यह भारत की सबसे छोटी मिसाइल है। इसका कम ए​वं मध्यम दूरी के मिसाइल के रूप में प्रयोग किया जाता है। यह 20 किमी. से 110 किमी. तक लक्ष्य भेद करने में सक्षम है। इसे भारतीय प्रतिरक्षा अनुषंधान प्रतिष्ठान ने तैयार किया है।

इनसे खौफ खाते हैं दुश्‍मन देश

ब्रह्मोस : भारत और रूस द्वारा विकसित यह दुनिया की सबसे अच्छी क्रूज मिसाइल है। इसकी रेंज 290 किलोमीटर और गति 4.5 मैक है।  

आकाश : 700 किलोग्राम वजनी यह मिसाइल जमीन से हवा में मार कर सकने में सक्षम है। यह 25 किलोमीटर के रेंज में किसी भी उड़ती चीज को मार गिराने में सक्षम है।  

अग्न‍ि-5 : यह इंटर-कॉन्टिनेन्टल बैलिस्टिक मिसाइल है। 5500 किलोमीटर मारक क्षमता वाली इस मिसाइल की सबसे बड़ी खासियत यह है कि समय आने पर इसकी रेंज का बढ़ाया जा सकता है। 

अग्न‍ि-4 : यह काफी हल्की और नई तकनीकों से लैस मिसाइल है। यह 4000 किलोमीटर से अधिक दूरी तक जमीन से जमीन पर मार करने में सक्षम है। 

अग्न‍ि-3 : एडवांस कम्प्यूटर और नेवीगेशन सिस्टम से लैस यह मिसाइल डेढ़ टन तक पेलोड ले जाने में सक्षम है। यह जमीन से जमीन पर 3500 किलोमीटर दूर वार कर सकती है।   

अग्न‍ि-2 : अत्याधुनिक नेवीगेशन सिस्टम और तकनीक से लैस यह मिसाइल एक टन का पेलोड ले जाने के साथ ही दो हजार किलोमीटर तक मार कर सकती है।  

अग्न‍ि-1 : इसे कम मारक क्षमता वाली मिसाइल के तौर पर विकसित किया गया है। यह 700 किलोमीटर तक मार करने में सक्षम है और भारतीय सेना में शामिल हो चुकी है। 

निर्भय : भारत की सबसोनिक क्रूज इस मिसाइल में ठोस रॉकेट मोटर बूस्टर के साथ टर्बोफैन इंजन लगा है। इसी वजह से इसकी रेंज 800 से 1000 किलोमीटर है। इसे हर मौसम में दागा जा सकता है।  

नाग : चार किलोमीटर रेंज के साथ 42 किलो के वजन वाली यह मिसाइल फायर और फारगेट के आधार पर काम करती है। इससे जमीन से जमीन और हवा से जमीन पर दागा जा सकता है।

ओडिशा की अन्य खबरें पढऩे के लिए यहां क्लिक करें

पहाड़ी युवाओं में होता है ये खास गुण, हिमाचल के मयंक ने किया साबित

 

Posted By: Babita kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप