भुवनेश्वर, जेएनएन। नया मोटर कानून को कड़ाई से लागू किए जाने के बाद राज्य में दुर्घटना में कमी आयी है। पिछले साल की तुलना में इस साल 4.5 प्रतिशत दुर्घटना कम हुई है। इतना ही नहीं दुर्घटना से होने वाली मृत्यु दर में भी 12 प्रतिशत की कमी आयी है सड़क सुरक्षा को लेकर राजधानी भुवनेश्वर स्थित लोकसेवा भवन में बुधवार को आयोजित राज्य सड़क सुरक्षा परिषद बैठक से यह जानकारी मिली है।

राज्य के बौद्ध, सोनपुर, कंधमाल, देवगड़, मालकानगिरी आदि जिलों में सर्वाधिक दुर्घटना होती हैं। सन 2018 में पूरे देश में 1 लाख 52 हजार लोगों की मृत्यु सड़क दुर्घटना में हुई थी। इस समय ओडिशा में 5 हजार 314 लोगों की मृत्यु हुई थी। हमारे देश में प्रत्येक घंटे में 17 लोगों की जान सड़क दुर्घटना में जाती है। 

पिछले एक दशक में ओडिशा में 38 हजार 204 लोग मौत के गाल में समा चुके हैं। दुर्घटना में मरने वालों में 70 प्रतिशत युवा होते हैं। 2014 से 2018 के बीच दुर्घटना मृत्यु दर में 35.2 प्रतिशत का इजाफा हुआ था। इस साल सितम्बर महीने तक दुर्घटना में 4 हजार 115 लोगों की मौत हुई है। नियम लागू होने के बाद से वर्तमान समय तक 8 हजार शराब पीकर वाहन चलाने वाले गाड़ी चालकों को गिरफ्तार किया जा चुका है। 750 लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई किए जाने की जानकारी बैठक से मिली है। इस बैठक में मुख्य सचिव, विकास कमिश्नर, पुलिस डीजी प्रमुख वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। 

नया मोटर व्हीकल एक्ट-2019

  •  ड्राइविंग लाइसेंस के बिना वाहन चलाने पर 5000 रुपये का चालान ट्रैफिक पुलिस काटेगी, पूर्व में यह महज 500 रुपये था।
  • नाबालिग के वाहन चलाने पर अब 500 रुपये की जगह 1000 रुपये का चालान कटेगा। वाहन से किसी भी ट्रैफिक नियम को तोडऩे पर वाहन मालिक के खिलाफ केस चलाने का प्रावधान है।
  • नए नियमों के अनुसार शराब पीकर गाड़ी चलाने पर छह माह तक की कैद या 10000 रुपये जुर्माना भरना होगा,  दोबारा यही गलती करने पर  2 साल तक की कैद या 15000 रुपये का जुर्माना।
  • फास्ट ड्राइविंग पर 1000 रुपये से 2000 रुपये तक का चालान काटा जाएगा। एलएमवी के लिए जुर्माना 400 रुपये से बढ़ाकर 1000 रुपये और मीडियम पैसेंजर व्हीकल के लिए 2000 रुपये किया गया है।
  • सीट बेल्ट लगाये बिना गाड़ी चलाने पर 100 रुपये की जगह 1000 रुपये का चालान कटेगा।
  • मोबाइल पर बात करते समय ड्राइविंग करने पर 1000 रुपये की जगह 5000 रुपये तक दंड भरना  होगा।
  • यातायात नियमों को तोडऩे पर 100 रुपये की जगह 500 रुपये का चालान देना होगा।
  • दुपहिया वाहन पर ओवरलोडिंग करने पर 100 रुपये की जगह अब 2000 का चालान कटेगा और 3 साल के लिए लाइसेंस भी निलंबित कर दिया जाएगा। 
  • बिना इंश्योरेंस के गाड़ी चलाने पर 1000 की जगह 2000 रुपये का जुर्माना देना होगा। 
  • इमरजेंसी व्हीकल को सड़क पर रास्ता न देने पर 1000 रुपये का चालान कटेगा और बड़े वाहन पर 5 हजार रुपये का चालान कटेगा।

 लाखों के जैकपॉट के बाद भी जेबकतरों को मिली निराशा, बेस्ट के यात्रियों को बनाते थे निशाना

Mumbai Brutal Murder: भतीजी की हत्या, ड्रम में सीमेंट कंक्रीट भर नदी में फेंका; आरोपी चाचा फरार

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस