भुवनेश्वर, जेएनएन। भयंकर रूप धारण कर चुका चक्रवात बुलबुल के प्रभाव से ओडिशा के तटीय जिलों में हवा चलने के साथ बारिश शुरू हो गई है। वर्तमान समय में बुलबुल पारादीप से 390 किलोमीटर की दूरी पर है और यह उत्तर एवं उत्तर पश्चिम दिशा की तरफ गति कर रहा है। इसके प्रभाव से समुद्र पूरी तरह से अशांत हो गया है। पुरी में आने वाले पर्यटकों को समुद्र में न जाने की हिदायत दी जा रही है। मिली जानकारी के अनुसार बुलबुल सुंदरवन डेल्टा इलाके में लैंडफॉल कर सकता है।  

इन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी

तटीय जिलों में तूफान के प्रभाव से आज सुबह से ही हवा के साथ रिमझिम बूंदाबांदी शुरू हो गई है पारादीप मे भारी बारिश होने की खबर है पारादीप से 390 किलोमीटर की दूरी पर तूफान सक्रिय है। पुरी जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, भद्रक, जिला में हेलो चेतावनी जारी की गई है। झमाझम बारिश एवं हवा चलने से लोगों में भय का माहौल उत्पन्न हो गया है। बालेश्वर भद्रक केंद्रपाड़ा जाजपुर जगतसिंहपुर जिला में भारी बारिश की चेतावनी। इन जिलों में 70 से 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने की जानकारी विशेष राहत आयुक्त प्रदीप ने दी है।

चक्रवात बुलबुल के मुकाबले के लिए बालेश्वर जिला प्रशासन की आपात बैठक 

बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवात बुलबुल से मुकाबले के लिए स्थानीय सद्भावना सभा गृह में बालेश्वर के जिलाधीश के सुदर्शन चक्रवर्ती की अध्यक्षता में एक समीक्षा बैठक आयोजित की गई। इस बैठक में जिले के प्राय: सभी वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए शुक्रवार को जिलाधीश स्थिति की समीक्षा किए तथा सभी ब्लॉक स्तर पर प्रस्तुति की जांच की है। जिला में मौजूद 140 आपदा स्थल को प्रस्तुत रखने का आदेश जिलाधीश ने दिया है।

विभिन्न ब्लॉकों में मौजूद पॉलिथीन के स्टॉक पर भी चर्चा की गयी जिला जरूरी कालीन अधिकारी एसडीएम समस्त तहसीलदार वीडियो समेत मेडिकल में 24 घंटे कंट्रोल रूम खोला गया है। इसी तरह विद्युत विभाग के अधिकारियों को विशेष निर्देश जारी किया गया है ताकि तूफान आने के पहले तथा तूफान के बाद विद्युत की सप्लाई सुनिश्चित की जा सके। जिला शिक्षा अधिकारी को समस्त विद्यालयों को 8 और 9 तारीख को विद्यालय को खोले रखने के लिए कहां गया है जिससे कि किसी भी प्राकृतिक आपदा के समय लोगों को वहां आश्रय लेने का मौका मिल सके लेकिन बच्चों के लिए विद्यालय बंद रखा गया है।

डॉक्टरों एवं अन्य कर्मचारियों की छुट्टी रद्द किया गया है तथा स्विफ्ट के आधार पर ड्यूटी जारी रखेंगे जिला में मौजूद एनडीआरएफ तथा ओड्रिफ एवं अग्निशमन विभाग समस्त अधिकारियों कर्मचारियों को विभिन्न स्थानों पर तैनात कर दिया गया है। चक्रवात बुलबुल के चलते 24 घंटे पहले ही उत्तर ओडिशा के जाजपुर, भद्रक बालेश्वर, मयूरभंज जिलों में मौसम पूरी तरह से बदल चुका है। एक ओर जहां लोगों के मन में इस चक्रवाती तूफान को लेकर भय का वातावरण साफ देखा जा सकता है। वहीं दूसरी ओर इस चक्रवात से निपटने के लिए जिला प्रशासन तटवर्ती जिलों के समस्त जिला प्रशासन पूरी तरह से कमर कस कर इसका मुकाबला करने के लिए तैयार हैं।

Nabaneeta Dev Sen Dies: साहित्य अकादमी और पदमश्री प्राप्त नवनीता सेन का लंबी बीमारी से निधन

 ओडिशा की अन्य खबरें पढऩे के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस