भुवनेश्वर, जेएनएन। पुरी-भुवनेश्वर के बीच निजी बस यातायात को लेकर चला आ रहा विवाद मंगलवार को खत्म हो गया। जिला प्रशासन के हस्तक्षेप के बाद इस विवाद का समाधान हुआ है। निर्धारित परमिट समय के अनुसार बस चलाने का निर्देश जिला प्रशासन ने पुरी एवं भुवनेश्वर निजी बस मालिक संघ को दिया है। बहुत जल्द राज्य परिवहन कमिश्नर की अध्यक्षता में बैठक कर बस यातायात समय निर्धारण समस्या का स्थाई समाधान कर लिया गया है।

यहां उल्लेखनीय है कि बस यातायात समय निर्धारण समस्या को लेकर भुवनेश्वर बस मालिक संघ एवं पुरी बस मालिक संघ आमने सामने आ गए थे। इसके बाद भुवनेश्वर बस मालिक संघ ने पुरी बस मालिक के एकाधिक बस को बरकंडा बस स्टैंड पर रोक दिया था और पुरी बस मालिक संघ ने भुवनेश्वर बस मालिकों के एकाधिक बस को पुरी बस स्टैंड में रोक लिया था। इससे पिछले सात सितंबर से भुवनेश्वर-पुरी के बीच निजी बस सेवा ठप थी।

स्थिति गंभीर होने के बाद प्रशासन को इसमें हस्तक्षेप करना पड़ा। क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी संजय कुमार महांती, सिटी डीएसपी प्रशांत कुमार पटनायक, ट्राफिक इंस्पेक्टर वामदेव स्वाई, पुरी बस स्टैंड के सचिव लोकनाथ पाणी, आवाहक चंडी प्रसाद सिंह एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे। वहीं भुवनेश्वर क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी, भुवनेश्वर बस मालिक संघ के साथ चर्चा की। पुरी बस मालिक संघ ने कहा कि कल्पना देकर सभी बस पुरी जाती हैं मगर यहां पर बस कर्मचारियों को परेशान किया जाता है। ऐसे में कल्पना चौक में एक पुलिस चौकी बनायी जाए।

भुवनेश्वर बरमुंडा बस स्टैंड में पुरी बस मालिकों के बसों को रोककर रखने वाले भुवनेश्वर बस मालिक संघ के कार्यकर्ताओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। पुरी भुवनेश्वर बस यातायात समय पुन: निर्धारित किया जाए। उच्च स्तरीय बैठक कर इस समस्या का स्थाई समाधान किया जाएगा। काफी समय तक चली बैठक के बाद निर्धारित परमिट समय के अनुसार बस यातायात करने पर सहमति बनी। यदि इस समस्या का स्थाई समाधान नहीं हुआ तो आगामी दिनों में पुन: यह स्थिति उत्पन्न हो सकती है। इसका कारण है कि वर्तमान समय में पुरी-भुवनेश्वर परमिट में रहने वाली समय सारिणी के मुताबिक बसों के बीच तीन से चार मिनट का अंतर है। इसी के चलते विवाद उत्पन्न होता है। इस विवाद के चलते 10 बार बस यातायात बंद हो चुका है।