जासं, भुवनेश्वर : राज्य कम्युनिस्ट पार्टी पर दशको से प्रभाव रखने वाले जनार्दन पति के खिलाफ अब माहौल बनाने की कोशिश तेज हो गई है। कम्युनिस्ट पार्टी की प्रमुख इकाई सीटू में जनार्दन के दखल अंदाज पर आपत्ति जताई जा रही है। भुवनेश्वर से लोकसभा प्रत्याशी रहे पति के खिलाफ उनकी ही पार्टी में विरोध के स्वर उठने लगे है।

मजदूर नेता नवकिशोर महांती ने कहा कि जनार्दन पति सीटू के कार्यक्रम में हस्तक्षेप करते है जिससे सीटू के महासचिव सहित अन्य पदाधिकारी का कोई मतलब नहीं है। कहा कि सीटू की राज्य इकाई में लोकतांत्रिक व्यवस्था नहीं है और वही होता है जो जनार्दन पति चाहते हैं। महांती ने केंद्रीय नेतृत्व को इस बात का जिक्र करते हुए पत्र लिखकर दखल देने के लिए आग्रह किया है। महांती ने कहा कि वामपंथी मजदूर संगठन को कमजोर करने की कोशिश की जा रही है। सीटू के लिए बेहतर होगा कि हमारे पदाधिकारियों को स्वतंत्र होकर काम करने की इजाजत दी जाए। जनार्दन पति लंबे समय तक सीटू के साधारण संपादक के रूप में काम करने के कारण आज भी इकाइयों को अपने तरीके से चला रहे है। इससे वामदलों को नुकसान पहुंचा है। प्रदेश में सीपीआइ (एम) का प्रभाव कम हो रहा है। अत: केंद्रीय नेतृत्व को चाहिए की मामले में दखल दे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस