गंजाम के नशा कारोबारी प्रधान भाइयों की करोड़ों की चल अचल संपति जब्त

संवाद सूत्र, संबलपुर : बीते अप्रैल के महीने में, ओडिशाक्राइम ब्रांच की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) के द्वारा नशा कारोबार में गिरफ्तार दो भाईयों की तीन करोड़ रुपए से अधिक की चल अचल संपत्ति को नार्कोटिक्स एक्ट के विभिन्न प्रविधान के तहत जब्त कर लिया गया है। गौरतलब है कि बीते 28 अप्रैल की रात, एसटीएफ ने गंजाम जिला के बुगुड़ा थाना अंतर्गत रघुनाथ साही गांव में औचक छापेमारी कर बनमाली प्रधान और उसके भाई अरुण प्रधान को 106 किलो गांजा और 517 ग्राम अफीम समेत सोने-चांदी के गहने और अचल संपतियों के कागजातों के साथ गिरफ्तार किया था।

एसटीएफ की ओर से की गई जांच के बाद पता चला कि बीते छह वर्षों के दौरान प्रधान भाईयों ने नशा कारोबार से अर्जित रुपए से करोड़ों रुपए की चल अचल संपत्ति हासिल किया है। इसी के बाद, नार्कोटिक्स के विशेष एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए सोमवार, 27 जून के दिन प्रधान भाईयों की संपति को जब्त कर लिया गया। एसटीएफ के डीआइजी जयनारायण पंकज के अनुसार, जब्त चल अचल संपति में पांच व्यवसायिक भवन, 19 प्लॉट, दो चारपहिया गाड़ी, 595 ग्राम सोने और 190 ग्राम चांदी के गहने आदि शामिल हैं।

जानलेवा हमले का आरोपित गया जेल

: शनिवार की रात, स्थानीय जिला स्कूल चौक के निकट सोनापाली इलाके के नौशाद अली पर जानलेवा हमला कर उसे गंभीर रूप से जख्मी कर देने वाले आरोपित पेंशनपाड़ा इलाके के मोहम्मद अब्बास को, संबद्ध धनुपाली थाना की पुलिस ने गिरफ्तार कर रविवार के दिन न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। इधर, इस हमले में बुरी तरह जख्मी नौशाद को बेहतर इलाज के लिए स्थानीय सदर अस्पताल से बुर्ला स्थित हॉस्पिटल स्थानांतरित किया गया है, जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बताई गई है। धनुपाली पुलिस के अनुसार, घटना शनिवार की रात तब हुई जब सोनपाली का मोहम्मद नौशाद किसी काम से जिला स्कूल चौक की ओर आया था। तभी किसी बात को लेकर नौशाद और पेंशनपाड़ा के अब्बास के बीच बहस हो गई और अब्बास ने एक पेपर कटिंग चाकू से नौशाद पर हमला कर फरार हो गया। इसकी रिपोर्ट दर्ज होने के बाद रविवार के दिन आरोपी अब्बास को गिरफ्तार किया गया और पूछताछ के बाद जेल भेज दिया।

Edited By: Jagran