भुवनेश्वर, जेएनएन। राजधानी भुवनेश्वर में आगामी 30 नवंबर से शुरू होने जा रहे मेक इन ओडिशा सम्मेलन 2020 को लेकर सरकारी स्तर पर तैयारी शुरू हो गई है। उद्योग लगाने के लिए ओडिशा में रहने वाले सुयोग एवं अधिक से अधिक पूंजी निवेशकों को आकर्षित करने के लिए मुख्य सचिव असीत त्रिपाठी की अध्यक्षता में लोक सेवा भवन के सम्मेलन कक्ष में एक उच्च स्तरीय बैठक आयोजित की गई। 5 दिन तक चलने वाले मेक इन ओडिशा सम्मेलन में विभिन्न क्षेत्र के 16 विषयों पर चर्चा करने का निर्णय लिया गया है।

इन 16 विषयों में शहरी विकास, पोशाक तथा वयन, आनुषंगिक उद्योग, कृषि एवं खाद्य प्रक्रियाकरण, पर्यटन, भ्रमण व्यवसाय, खदान एवं धातु उत्पादन, रसायन, पेट्रो रसायन तथा प्लास्टिक, आधारभूमि, स्वास्थ्य सेवा, खेल, खेल राजधानी के तौर पर भुवनेश्वर को विकसित करने, बंदरगाह आधारित उद्योग, लॉजिस्टिक पार्क आदि को शामिल किया गया है।

यह पांच दिवसीय सम्मेलन 30 नवंबर से शुरू हो रहा है। सम्मेलन के प्रत्येक अधिवेशन से किस प्रकार से निष्कर्ष निकले उस पर मुख्य सचिव ने ध्यान देने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिया है। मुख्य सचिव ने सभी विभाग के संयुक्त प्रयास से इस सम्मेलन को आयोजित करने की बात कही है। सम्मेलन को सफल बनाने के लिए उद्योग विभाग के साथ ताल से ताल मिला कर सभी विभाग को सक्रिय योगदान देने के लिए मुख्य सचिव श्री त्रिपाठी ने कहा है।

उन्होंने यह भी जानकारी दी है कि इस सम्मेलन में राष्ट्रदूत बैठक, कौशल मेला, क्षेत्र आधारित सीईओ गोल टेबल बैठक, शिक्षा एवं उद्योग के क्षेत्र के प्रतिनिधियों के साथ चर्चा आदि का आयोजन किया जाएगा। उद्योग विभाग के प्रमुख सचिव हेमंत कुमार शर्मा ने इस अवसर पर सम्मेलन तथा विभिन्न तकनीकी अधिवेशन के लिए एकाधिक राष्ट्र एवं उद्योग सहयोगी रखने के लिए प्रस्ताव दिया। इस बैठक में वित्त सचिव अशोक कुमार मीना, कौशल विकास तथा तकनीकी शिक्षा सचिव एवं इडको के सीएमडी संजय कुमार सिंह के साथ विभिन्न विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Bhima Koregaon case: शरद पवार ने की सरकार की खिंचाई कहा, मामला NIA को सौंपना गलत

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस