भुवनेश्वर, जेएनएन। दुल्हन लाने में दूल्हे मियां इतना मशगूल हो गए कि उन्होंने यह तक परवाह नहीं की कि कोरोना वायरस के कारण पूरा ओडिशा लॉकडाउन है। शादी विवाह, जलसा, पार्टी आदि सभी पर रोक है। उल्लंघन करने में सजा भी हो सकती है। अब तक 149 पर कार्रवाई हो भी चुकी है। इसी तरह से कोरोना नियम का उल्लंघन करने वाले कंधमाल में और चार लोगों को तथा कालाहांडी में 3 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

रोक के बाद भी कंधमाल जिले के फुलवाणी में विवाह रचाने की तैयारी में जुटे सजे सजाए दूल्हे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इसी प्रकार एक अन्य घटना में गोछापाड़ा पंचायत का रहने वाला दूल्हा बना बीजू कंहर को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। बीजू का विवाह समारोह उसके गांव में आयोजित किया गया था। बीजू के साथ उसके भाई को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

विवाह के इस आयोजन में न केवल सोशल डिस्टेंसिंग का फार्मूला तोड़ा गया बल्कि बाराती और घरातियों की भीड़ भी दूल्हेराजा की गिरफ्तारी का सबब बनी। दूूल्हे का नाम परमेश्वर भुक्ता है। वह कंधमाल जिले के फिरंगी पुलिस थाना क्षेत्र के नुआपाडा गांव का रहने वाला है। कोरोना (covid-19) रोकने के लिए बनाए गए नियम कानून को तोड़ने के आरोप में दूल्हे की गिरफ्तारी की गयी। उसका विवाह फिलहाल स्थगित कर दिया गया है। 

सूत्रों के अनुसार करीब 80 से ज्यादा लोगाेें ने इस शादी समारोह भाग लिया था। यह जिलाधिकारी द्वारा लगायी गई सीआरपीसी की धारा 144 का सीधा उल्लंघन था। इसी प्रकार कंधमाल के ही एक अन्य मामले में गोछापाडा ग्राम पंचायत क्षेत्र के खजुरीगांव का रहने वाला बीजू कंहर को गिरफ्तार कर लिया गया है। बीजू के भाई को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इस गांव में बीजू कंहर का विवाह समारोह आयोजित किया गया था। दोनों पर लॉकडाउन का आर्डर तोड़ने का आरोप है। इनके खिलाफ गोछापाड़ा थाने में केस दर्ज किया गया है।

 

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस