भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता। बाहर राज्य से ओडिशा आने वाले व्यक्ति के लिए अच्छी खबर है क्योंकि ओडिशा आने पर अब किसी भी प्रकार के प्रतिबंध का सामना नहीं करना पड़ेगा। संक्रमण के मामले कम होने के बाद राज्य सरकार ने लगाए गए सभी प्रतिबंध को हटा दिया है। सरकार के इस निर्णय के बाद ओडिशा आने वाले व्यक्ति को कोरोना टेस्ट रिपोर्ट (एंटजेन-आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट) या फिर कोरोना टीका का दूसरी डोज का प्रमाणपत्र देना अनिवार्य नहीं है। इस संदर्भ में विशेष राहत आयुक्त दफ्तर से आज विधिवत निर्देशनामा जारी कर दिया गया है।

यहां उल्लेखनीय है कि इससे पहले कोरोना संक्रमण को नियंत्रण में लाने के लिए सरकार ने कुछ पाबंदिया लगा दी थी। खासकर दूसरे राज्यों से ओडिशा आने वाले व्यक्ति को कड़ी जांच पड़ताल से गुजरना पड़ता था। बाहर से आने वाले व्यक्ति को एंटीजेन टेस्ट या फिर आरटीपीसीआर की टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव दिखाना अनिवार्य था। निगेटिव रिपोर्ट ना होने पर कोरोना टीका का दूसरी डोज का प्रमाण पत्र दिखाना पड़ रहा था। हालांकि यह सब नहीं दिखाना पड़ेगा।

 गौरतलब है कि राज्य मे कोरोना की दूसरी लहर अब नियंत्रण में आ गयी है। हालांकि सितम्बर-अक्टूबर महीने में तीसरी लहर का प्रकोप बढ़ने की सम्भावना डीएमइटी सीबीके महान्ति ने जतायी है। हालांकि उन्होंने कहा है कि दूसरी लहर की तरह तीसरी लहर घातक नहीं होगी। इसके पीछे कारण है कि प्रदेश में टीकाकरण अभियान जोरदार ढंग से चलाया जा रहा है। अधिकांश लोगों के शरीर में एंटीबाड़ी बन चुकी है। वहीं दूसरी तरफ राज्य में तीसरी लहर को रोकने के लिए सरकार ने अभी से तैयारी शुरू कर दी है। किसी भी लहर को रोकने के लिए दो चीजें होनी चाहिए। पहला है मरीजों की पहचान, सर्वेलांस जारी रखना एवं दूसरा सही इलाज करना। राज्य सरकार इन दोनों दिशाओं के साथ टीकाकरण पर विशेष ध्यान देने की बात स्वास्थ्य निदेशक विजय महापात्र ने कही है।

Edited By: Babita Kashyap