भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता। कोविड महामारी के बीच 26 जुलाई से ओडिशा में 10वीं एवं 12वीं कक्षा के लिए स्कूल एवं होस्टलों को खोल दिया गया है। कोविड महामारी की दूसरी लहर के बाद खुल रहे स्कूल जाने को लेकर लेकर छात्र-छात्राओं में उत्साह का माहौल देखा गया। निर्धारित समय से पहले ही छात्र-छात्रा स्कूल पहुंच गए और सुबह 10 बजे से दोपहर 1:30 तक कक्षा में बैठकर पढ़ाई की।

शिक्षा मंत्री समीर रंजन दास ने कहा है कि आज से 10वीं एवं 12वीं कक्षा के लिए कक्षागृह में शिक्षादान के लिए स्कूलों को खोल दिया गया है। स्कूलों को खोलने से पहले ही सभी प्रकार के सुरक्षात्मक कदम उठाए गए हैं। नोडल अधिकारियों को विभिन्न जिले के दौरे पर भेज दिया गया है। स्कूलों को पहले ही सैनिटाइज कर दिया गया है। यदि कोई अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल भेजने से हिचकिचाते हैं तो फिर उनके लिए आनलाइन शिक्षादान की व्यवस्था भी की गई है।

जानकारी के मुताबिक 10वीं एवं 12वीं कक्षा चलाने की पूर्व घोषणा की गई थी। ऐसे में सुबह 9:30 से ही छात्र-छात्राओं ने स्कूल पहुंचना शुरू कर दिया। कुछ छात्रों के अभिभावक भी अपने अपने बच्चों को लेकर स्कूल पहुंचे और स्कूलों में कोविड से निपटने की गई व्यवस्था का जायजा लिया। श्री अरविंद पूर्णांग शिक्षा केन्द्र की 10वीं की छात्रा रिया ने दैनिक जागरण से बात करते हुए बताया कि स्कूल आकर बहुत अच्छा लग रहा है। कोविड महामारी के कारण काफी दिनों से हम घरों में रहकर आनलाइन पढ़ाई कर रहे थे। आनलाइन पढ़ना और स्कूल आकर पढ़ाई करने में बहुत अंतर है। स्कूल में हम अपनी वस्तु के बारे में शिक्षक से सीधी बात कर जानकारी हासिल कर लेते हैं, मगर आनलाइन में यह सुविधा नहीं होती है। सरकार एवं स्कूल की तरफ से जो भी दिशा-निर्देश दिए गए हैं, हम उसका अनुपालन करेंगे।

वहीं प्रधानाचार्य रेणुबाला सामन्तराय ने बताया कि स्कूल खोलने से पहले कमरे की साफ-सफाई किए जाने के साथ सैनिटाइज किया गया है। बच्चों को मास्क पहनने एवं व्यक्तिगत दुराव का अनुपालन करने के सुझाव दिए जा रहे हैं। कोविड महामारी में बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हुई है, मगर उम्मीद करते हैं कि आगे चलकर सबकुछ ठीकठाक हो जाएगा। कोविड महामारी के लिए जारी किए गए हेल्प लाइन नंबर को कैंपस में प्रदर्शित किया गया है।

Edited By: Babita Kashyap