भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता। ओडिशा के कटक जिले के सिखरपुर इलाके के 16 वर्षीय छात्र सम्भव मिश्रा को कला और संस्कृति के क्षेत्र में उनकी असाधारण उपलब्धियों के लिए राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। सोमवार को नई दिल्ली में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने छात्र को पदक के साथ नकद 1 लाख रुपये एवं प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया है।

जानकारी के मुताबिक ओडिशा के संभाव मिश्रा ने प्रसिद्ध प्रकाशनों के लिए कई उल्लेखनीय लेख और किताबें लिखी हैं। उन्हें प्रतिष्ठित फैलोशिप ऑफ द रॉयल एशियाटिक सोसाइटी, लंदन से भी सम्मानित किया गया था। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री और अल्पसंख्यक मामलों की मंत्री स्मृति ईरानी ने ट्वीट कर छात्र संभव मिश्रा को अपनी शुभकामना दी है।

देशभर से 11 बच्चों को किया था सम्मानित

गौरतलब है कि इस वर्ष देशभर से 11 बच्चों को पुरस्कारों के लिए चुना गया था। इनमें 11 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 6 लड़के और 5 लड़कियां शामिल हैं। हर वर्ष यह पुरस्कार महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा दिया जाता है। मंत्रालय पुरस्कार विजेताओं के चयन से पहले दिशानिर्देश जारी करता है। एक उम्मीदवार का भारतीय होना जरूरी है और भारत में ही रहना चाहिए। उम्मीदवार की उम्र 5 से 18 वर्ष वर्ग में होनी चाहिए। इस आयु वर्ग से ऊपर या उससे नीचे के लोग पुरस्कार के लिए पात्र नहीं हैं।

संभव उन 11 अन्य पुरस्कार विजेताओं में से एक हैं जिन्होंने प्रतिष्ठित पुरस्कार जीता है जो छह श्रेणियों अर्थात् नवाचार, सामाजिक सेवा, शैक्षिक, खेल, कला और संस्कृति और बहादुरी में असाधारण उपलब्धि के लिए दिया जाता है।

Edited By: Yashodhan Sharma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट