भुवनेश्वर, जेएनएन। राज्य सचिवालय में मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई कैबिनेट बैठक ने एक ऐतिहासिक निर्णय लेते हुए राज्य विधान परिषद गठन प्रस्ताव को मंजूरी दे दिया है। जानकारी के अनुसार राज्य में पहली बार विधानपरिषद गठन प्रस्ताव को कैबिनेट की मंजूरी मिली है।

इस संबंध में जानकारी देते हुए संसदीय व्यापार मंत्री विक्रम केशरी आरूख ने कहा है कि राज्य में विधान परिषद गठन के लिए 7 जनवरी 2015 को विधायक तथा परिवहन मंत्री डा.नृसिंह साहू के नेतृत्व में एक 5 सदस्यीय कमेटी बनायी गई थी। इस कमेटी ने विभिन्न राज्यों का दौरा किया और विभिन्न राज्यों में विधान परिषद गठन की प्रक्रिया एवं कार्य की समीक्षा करने के साथ तथ्य संग्रह किया। उन्होंने कहा कि कमेटी ने कर्नाटक, बिहार, महाराष्ट्र एवं तेलेंगाना राज्य का दौरा कर तथ्य संग्रह किया था। इस कमेटी की रिपोर्ट को आज कैबिनेट में पेश किया गया। भारतीय संविधान की धारा 161 (1) के अनुसार विधान परिषद गठन करने के लिए विधानसभा में संकल्प पास होना जाना जरूरी है। ऐसे में आगामी मानसून अधिवेशन में राज्य विधान परिषद गठन के लिए संकल्प पेश किया जाएगा। इसके लिए आज की इस कैबिनेट बैठक में निर्णय लिया गया है।

Posted By: Babita