भुवनेश्वर, जेएनएन। ओडिशा में पुलिस बाबू अब शिकायतकर्ताओं को ना ही धमकी दे पाएंगे और ना ही उनके साथ किसी प्रकार का दुर्व्यवहार कर पाएंगे, क्योंकि शिकायतकर्ताओं के साथ उनके व्यवहार को लेकर अब राज्य के प्रत्येक थाना की रिपोर्ट कार्ड तैयार किए जाने की जानकारी पुलिस डीजी डा. वी.के.शर्मा ने दी है। जानकारी के मुताबिक कटक एवं भुवनेश्वर के पुलिस अधिकारी तथा प्रदेश के प्रत्येक जिले के दो-दो पुलिस अधिकारियों के साथ शुक्रवार को राजधानी भुवनेश्वर में पुलिस महानिदेशक डा. वी.के.शर्मा ने बैठक की।

पुलिस डीजी ने इस अवसर पर पुलिस अधिकारी एवं कर्मचारियों को अनुशासन में रहने एवं लोगों का विश्वास जीतने की सलाह दी है। डीजी ने यह भी स्पष्ट किया है कि थाना में अपनी शिकायत लेकर पहुंचे शिकायतकर्ता के फीडबैक के आधार पर राज्य के प्रत्येक थाने की रिपोर्टकार्ड तैयार की जाएगी शिकायतकर्ताओं के पास काल सेंटर से फोन जाएगा कि थाना में उन्हें किस प्रकार की सेवा मिली है, उस पर वे मार्क देंगे, जिसके आधार पर थाना की रिपोर्ट कार्ड तैयार की जाएगी। 

गौरतलब है कि पुलिस डीजी बनने के बाद से ही डा.वी.के.शर्मा पुलिस एवं पब्लिक संपर्क बढ़ाने पर ज्यादा महत्व दे रहे हैं। इसी लिए आज की बैठक में पुलिस कर्मचारी किस प्रकार से लोगों का विश्वास जीतेगी उस पर विस्तार से चर्चा की गई। सामान्य लोगों का विश्वास जीतने के लिए पुलिस को क्या करना चाहिए, थाना में न्याय की आस में आ रहे लोगों को किस प्रकार से व्यवहार करना चाहिए, उस पर महत्व दिया गया। अपने व्यवहार एवं आचरण से पुलिस लोगों का दिल जीत सकती है, इसके लिए पुलिस कर्मचारियों के लिए 8 सूत्री मानदंड तैयार किया गया है।

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा, आम जनता से जुड़े नेता तो होगा ये फायदा

पुलिस अधिकारी को अनुशासन में रहने, आचरण में बदलाव लाने को कहा गया है। इस मानदंड का अनुपालन जो अधिकारी नहीं करेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। वहीं दूसरी तरफ ओड़िशा पुलिस अधिकारियों को मो सरकार योजना के संदर्भ में भी प्रशिक्षण देने का निर्णय लिया गया है। विभिन्न समय में पुलिस के व्यवहार को लेकर आरोप आते रहे हैं। कई बार तो पुलिस के आचरण को लेकर थाना पर हमला करने की भी सूचना मिलती रही है और कुछ मामलों में पुलिस शर्मिंदगी भी झेलनी पड़ी है। ऐसे में पुलिस ने यह मानदंड निर्धारित किया है।

महिला शिक्षक ने प्रिंसिपल पर लगाये ये गंभीर आरोप कहा, विद्यार्थियों के सामने करता है ये अभद्रता

900 साल पुराना ऐतिहासिक एमार मठ, जानें क्यों 2011 में पूरी दुनिया में हो रही थी इसकी चर्चा

 

Posted By: Babita kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप