भुवनेश्वर, जागरण आनलाइन डेस्‍क। वाहन फिटनेस टेस्ट ( vehicle fitness test) अब और आसान हो जाएगा। मैकेनिक की जरूरत नहीं होगी और ना ही आरटीओ कार्यालय (RTO office Odisha) जाने की कोई आवश्यकता होगी। परीक्षण प्रक्रिया स्वचालित होगी।

एक विशेष उपकरण के माध्यम से वाहन फिटनेस परीक्षण किया जाएगा। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के निर्देश के अनुसार राज्य सरकार एक विशेष स्वचालित परीक्षण प्रणाली या एटीएस अपनाने जा रही है।

पांच जगह खुलेंगे एटीएस सेंटर

वाणिज्य एवं परिवहन विभाग ने इसके लिए नीति तैयार करने के लिए राज्य परिवहन प्राधिकरण को पत्र लिखा है। नीति केंद्रीय मोटर वाहन नियम, 1989 के अनुसार तैयार की जाएगी।

ओडिशा में पांच जगहों पर एटीएस सेंटर खोले जाएंगे। इसके लिए 10 से ज्यादा निवेशकों ने दिलचस्पी दिखाई है। ऑरिलो, कटक में निरीक्षण और प्रमाणन केंद्र को एटीएस में परिवर्तित किया जाएगा।

गाड़ी फिट है या अनफिट?

यह नीति लागू होने पर वाहन की आयु क्या है? गाड़ी फिट है या अनफिट? स्वचालित प्रणाली इस संबंध में सभी जानकारी प्रदान करेगी। इस नियम को लेकर सड़क सुरक्षा अधिकारियों ने जहां खुशी जाहिर की है वहीं गाड़ी मालिकों ने इसका विरोध किया है। गाड़ी मालिकों का कहना है कि स्वयंचालित व्यवस्था से समस्या और बढ़ जाएगी।

यह भी पढ़ें-

महाराष्ट्र सरकार ने कहा- छोटे बच्चों को ज्यादा नींद की जरूरत, प्राइमरी स्‍कूलों में जल्‍द होगा बड़ा बदलाव

Shardiya Navratri 2022: नवरात्र के साथ ही रियल स्‍टेट कारोबार में उछाल, रजिस्ट्री करवाने की मची होड़

Edited By: Babita Kashyap

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट