जेएनएन, भुवनेश्वर : नक्सल प्रभावित क्षेत्र राज्य के मलकानगिरी जिले के हंतालगुड़ा में पहली बार तिरंगा लहराया गया है। इस इलाके में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) का पहला अस्थाई कैंप स्थापित किए जाने के बाद एसपी ऋषिकेश ज्ञानदेव ने तिरंगा फहराया है। हंतालगुड़ा इलाका माओवादियों के अभेद्य किले के रूप में प्रख्यात है। अब इस इलाके में बीएसएफ कैंप स्थापित हो जाने के बाद स्थानीय लोगों को राहत मिलने की उम्मीद की जा रही है। बिना किसी भय के पुलिस के पास अपनी शिकायत करने के लिए एसपी ने लोगों से अनुरोध किया है।

उल्लेखनीय है कि अतीत में मलकानगिरी के इस दूर दराज क्षेत्र में आवागमन की सुविधा नहीं थी। जिससे पुलिस प्रशासन इस इलाके में नहीं पहुंच पा पा रहा था। ऐसे में नक्सली संगठन इसे अपने गढ़ के रूप में स्थापित कर आसपास के इलाके में अपना एकछत्र राज चलाते थे। गुरुप्रिया सेतु बन जाने के बाद इस इलाके को स्वाभिमान क्षेत्र के तौर पर सरकार द्वारा नामित किए जाने के साथ पुलिस एवं प्रशासन लोगों के पास पहुंच रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस